Sister Poem in Hindi – बहन पर 7 कविताएँ

Sister Poem in Hindi – बहन पर कविताएँ  दोस्तों आज हम आपके साथ Sister पर लिखी गई कविताएं शेयर करने जा रहे है. इसमें कुछ कविताएं बहन भाई के रिश्ते को बहुत ही अनूठे तरीके से कविताओं के माध्यम से बतलाया गया है. Sister Poem in Hindi पर लिखी गई यह कविताएं सभी कक्षा और कॉलेज के विद्यार्थियों के लिए बहन पर कविता लिखने में सहायक होंगी.

Sister Poem in Hindi

Top Seven Best Sister Poem in Hindi 

Get Some Sister Poem in Hindi for 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9 ,10, 11, 12 class students

दोस्तों बचपन में बहन और भाई के बीच बहुत ही अनोखा और चटपटा रिश्ता होता है यह अन्य सभी रिश्तो से बढ़कर होता है क्योंकि बचपन में बहन और भाई के बीच में हमेशा नोकझोंक होती रहती है

लेकिन बड़े होने पर बहन ससुराल चली जाती है तो यह दोनों अलग हो जाते हैं और इनको एक दूसरे की बहुत याद आती है.

इन यादों को हमने कविताओं के माध्यम से समझाने की कोशिश की है अगर आपको यह कविताएं अच्छी लगे तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूलें

(1) Sister Poem in Hindi – Ek Behan Apne bhai ke liye kimti Uphar

एक बहन अपने भाई के लिए होती है कीमती उपहार

कभी-कभी बच्चों सी शरारत ।
तो कभी मां सा प्यार ।।

हमारी कामयाबी पर होती है ।
हम से भी ज्यादा खुश ।।

नाकामी के वक्त समेट लेती है ।
हमारे सारे दुःख ।।

यह भी पढ़ें – Raksha Bandhan Par Nibandh – रक्षाबंधन पर निबंध

उम्र भर की दोस्ती का बहनों से मिलता है वरदान ।
बरसाए अपनी भाई पर प्यार और करती है गुमान ।।

हर दिन करते शुक्रिया अपनी बहनों को हम ।
पास न होके भी जिनका प्यार कभी ना होता कम ।।

खुशकिस्मत हैं वो जिनकी बहनें करती है उन्हें हर पल याद ।
उनकी जिंदगी रहे खुशनुमा बस यही है हमारी फरियाद ।।

– Mr. Rhymer


(2) Ek Ladki Pagal Si hai Poem in hindi

एक लड़की पागल सी है ।
उसकी एक अलग पहचान सी है ।।

लड़की झगड़ती हुई हंसती हुई नादान सी है ।
जिसे मैं कभी जानता नहीं था ।।

वो लड़की मेरे लिए बहुत खास सी है ।
नाम क्या लूं मैं उसका ।।

नाम क्या लूं मैं उसका ।
हमारे रिश्ते की एक अलग पहचान की है ।।

बहुत सीधी-सी अपनों के लिए अपनी ।
पर दूसरों के लिए पहेली सी है ।।

छोटी सी मेरी दोस्ती ।
पर मेरी दोस्ती की एक अलग पहचान सी है ।।

सब की खुशी में खुश होने वाली ।
सबके दुखों में दुखी होने वाली ।।

अपनों के लिए लड़ने वाली ।
एक लड़की अनजान सी है ।।

एक बहन और एक भाई की दोस्ती बहुत खास होती है ।
एक दूसरे को चिढ़ाना यह तो बहुत आम बात होती है ।।

बहुत यादें होती हैं जो बहुत खास होती है ।
बस एक दूसरे को चिढ़ाने वाले इशारों से ही बात होती है ।।

बस इन्ही हंसी मजाको और ।
सुख दुख बांटने से हमारी दोस्ती खास होती है ।।

इन्हीं लम्हों से हमारी दोस्ती की एक अलग पहचान सी है ।
इन्हीं लम्हों से हम भाई बहन की एक अलग पहचान सी है ।।

यह भी पढ़ें – दि‍वाली पर कविता – Best Poem on Diwali in Hindi

– Poonam Sharma


(3) Lakho Me Hazaaron me Meri Ek Pyari Behna ho

लाखों में हजारों में मेरी एक प्यारी बहना हो ।
भाई को प्यार करने वाली एक बहना हो ।।

बड़ी हो तो मां बाप की डांट से बचाने वाली ।
छोटी हो तो हमारे पीठ पीछे छुपने वाली ।।

बड़ी हो तो चुपचाप हमारी पॉकेट में पैसे रखने वाली ।
छोटी हो तो चुपचाप पैसे निकाल लेने वाली ।।

छोटी हो या बड़ी छोटी-छोटी बातों पर लड़ने वाली ।
लाखों में हजारों में मेरी एक प्यारी बहना हो ।।

बड़ी हो तो गलती पर हमारे कान खींचने वाली ।
छोटी हो तुम अपनी गलती पर सॉरी भैया कहने वाली ।।

खुद से ज्यादा हमें प्यार करने वाली ।
लाखों में हजारों में मेरी एक प्यारी बहना हो ।।

– Tushar sharma


(4) Phool Ke Jaisi Muskaan Si Hai

फूलो के जैसी मुस्कान सी है,
वह सुरों में पिरोई हुई राग सी है ।।
एक हजारो में मेरी प्यारी बहना है ।।

रिश्तो की एक अलग पहचान सी है,
उसके आने से महक उठा घर आँगन ।
पांव में पहने घुंघरूओ की मीठी आवाज सी है ।।

बागो में उड़ती तितली सी है,
जुगनू की तरह चमकने वाली चमक सी है ।
एक हजारो में मेरी प्यारी बहना है ।।

तारो से भी ज्यादा चमकने वाली,
परियो की रानी है वो ।
एक हजारो में मेरी प्यारी बहना है ।।

यह भी पढ़ें – कृष्ण जन्माष्टमी कविता – Krishna Janmashtami Kavita

हंसी मजाक करने वाली,
छोटी -छोटी बातो पर रूठने वाली ।
एक हजारो में मेरी प्यारी बहना है ।।

सावन में बरसात की तरह,
बागो में फूलो की तरह ।
एक हजारो में मेरी प्यारी बहना है ।।

अपनी मीठी मीठी बातो से मुझे मनाने वाली,
एक भोली से गुड़िया की तरह ।
एक हजारो में मेरी प्यारी बहना है ।।

– Narendra verma


(5) Meri Behan Mujhe Bhut Yaad Aati Hai

मेरी बहन मुझे बहुत याद आती है ।
न जाने कहा खो गयी मेरी प्यारी बहना ।।

बस अब कुछ खट्टी मीठी सी यादी बाकि है ।
मेरी बहन मुझे बहुत याद आती है ।।

वो बचपन की झगड़े बहुत याद आते है ।
वो बहन का प्यार बहुत याद आता है ।।

वो बचपन की प्यारी बाते ।
मेरी बहन मुझे बहुत याद आती है ।।

घर की खुशियों की पोटली थी वो ।
न जाने कहा खो गयी मेरी प्यारी बहना ।।

हर सुख दुःख में मेरे साथ देने वाली ।
मेरी बहन मुझे बहुत याद आती है ।।

अपनी हर खुशियां मेरे साथ बाटने वाली ।
हर दुःख को अकेले सहने वाली ।।

न जाने कहा खो गयी मेरी प्यारी बहना ।
मेरी बहन मुझे बहुत याद आती है ।।

– Narendra verma


(6) Sister Poem in Hindi – Ye Rista Hai Hansi Majak ka

ये रिश्ता है हंसी मजाक का।
हंसी वाली मुस्कान और गम वाले आंसू का ।।

छोटी-छोटी बातों पर रूठ जाने का ।
और फिर खुद ही मान जाने का ।।

यह रिश्ता है भाई और बहन का,
बहन वो जो हर आंसू छुपा दे भाई की खुशी के लिए ।
और भाई वो जो हर हद पार कर दे बहन की खुशी के लिए ।।

बहन वो जो है राखी पर अपने प्यार को ।
धागे में संजोकर भाई की कलाई पर बांध दें ।।

और भाई वो जो बहन की तकलीफ को ।
देखकर दुनिया का हर बंधन तोड़ दे ।।

यह रिश्ता है चिड़ने का और चिड़ाने का शरारतों के पिटारो का ।
कहीं और अनकही बातों का ।।

यह रिश्ता है बचपन की यादों का ।
यह रिश्ता है प्यार की बगिया में विश्वास के फूल का ।।

जिसकी पंखुड़ी हर आंसू पी जाती है ।
जिसको देखकर चेहरे पर सिर्फ खुशी रह जाती है ।।

जिसकी खुशबू जहन में और जिसकी तस्वीर यादों में ।
हमेशा के लिए कैद हो जाती है यह रिश्ता है एक भाई का उसकी बहन से ।।

यह रिश्ता है मेरी राखी का तेरी कलाई से ।।

– chhavi jalori


(7) Poem For Sister From Brother in Hindi

तेरी हर बात हमेशा अच्छी लगती है ।
तेरे जैसा दूजा होगा नही कोई ।।

तू मेरी एक लोती आस है ।
मेरी शरारतो की साथी है तू ।।

अपनी हर बात मनवाती है तू,
कही अपनी बात मनवाना भूल तो नही जाएगी ।
और मेरी प्यारी बहना तू बहुत याद आएगी ।।

तू शायद जानती नही में बेहद प्यार करता हु ।
तू कही भूल ना जाए बस यही दुआ करता हू ।।

दुआ है मेरी सारे जहाँ की खुशियाँ तुझे नसीब हो ।
आगे से हमारा ये रिश्ता और भी करीब हो ।।

मेरी गलतियों को माफ़ करना ।
हो सके तो मुझसे रोज बात करना ।।

मुझे मालूम है तू भी बहुत प्यार करती है ।
इसलिए मेरी एक आवाज़ पर हाँ भैया कह के पुकारती हो ।।

अपनी मुस्कान को हमेशा बनाए रखना ।
हर मुसीबत में गले लगाए रखना ।।

अब तक मेरे लिए बहुत कुछ किया है तूने ।
कहीं अब मेरी माँ बनना भूल तो ना जाएगी तू ।।

और मेरी प्यारी बहना तू मुझे कही भूल तो नही जाएगी ।
और मेरी प्यारी बहना तू बहुत याद आएगी ।।

– Deepak Agrawal


यह भी पढ़ें –

Raksha Bandhan Par Nibandh – रक्षाबंधन पर निबंध

Hindi Poem on Betiyan | बेटी पर कविता

माँ पर 10 हिन्दी कविता | Sad Poem on Maa in Hindi

Poems on Rain in Hindi

दोस्ती पर कविता – Poem on Friendship in Hindi

दोस्तों माँ पर Sister Poem in Hindi के बारे में यह कविताएँ आपको कैसी लगी, अगर अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ शेयर करना ना भूलें और अगर आपका कोई सवाल है चाहो तो हमें कमेंट करके बताएं।


8 Comments

अपना सुझाव और कमेन्ट यहाँ लिखे

You have to agree to the comment policy.