5+ दोस्ती पर कविता – Poem on Friendship in Hindi

Poem on Friendship in Hindi : दोस्तों आज हमने दोस्ती पर कविताएं लिखी है क्योंकि दोस्त हमारे जीवन में एक अहम स्थान रखते हैं वे जब दूर हो जाते है तब जीवन सूना सूना लगने लग जाता है. यह ऐसा रिश्ता है जो हम खुद बनाते है. बचपन में यही दोस्त हमारे साथ खूब मस्ती करते है

और बड़े हो जाने पर ना जाने कहां खो जाते हैं तो उन्हीं को याद करते हुए हमने कुछ कविताएं लिखी हैं जो आपकी दोस्ती को और मजबूत कर देंगी.

poem on friendship in hindi

Get Some Best Poem for Your Best Friend in Hindi

Best Poem on Friendship in Hindi


(1)

वो दोस्त ना जाने कहां गुम हो गया
बचपन में जो मेरे संग खेला करता था,
जो बारिश में मेरे संग भीगा करता था।

ना जाने वो दोस्त कहां गुम हो गया
जब मेरे संग गांव की गलियों में खूब खेला करता था,
जिसके संग जिंदगी जिया करते थे।

ना जाने वो दोस्त कहां गुम हो गया
जिसको सब कुछ बता दिया करता था,
जिसके संग खूब हंसी ठिठोली किया करता था।

ना जाने वो दोस्त कहां गुम हो गया
जिसके संग स्कूल जाया करता था,
जिसके संग खाना बांटा करता था।

ना जाने वो दोस्त कहां गुम हो गया
जिसके संग गोलगप्पे खाया करता था,
जिसके संग मेला देखने जाया करता था।

ना जाने वो दोस्त कहां गुम हो गया
जिसके संग बाजारों में घूमा करता था,
जिसके संग फिल्में देखा करता था।

ना जाने वो दोस्त कहां गुम हो गया
जिसकी एक आवाज पर दिल झूम उठता था,
जिसके संग हर पल खुश रहता था।

ना जाने वो दोस्त कहां गुम हो गया
जो दोस्ती निभाने का वादा करता था,
जो दोस्त नहीं भाई बोला करता था।

– नरेंद्र वर्मा

Hindi Poem on Dosti –  ‘Yaadon Ka Pitaara Kholu to’


(2)

मैं यादों का पिटारा खोलू तो,
कुछ दोस्त बहुत याद आते है।

मैं गांव की गलियों से गुजरू
पेड़ की छांव में बैठू तो,
कुछ दोस्त बहुत याद आते है।

वो हंसते मुस्कुराते दोस्त
ना जाने किस शहर में गुम हो गए,
कुछ दोस्त बहुत याद आते है।

कोई मैं में उलझा है तो कोई तू उलझा है
नहीं सुलझ रही है अब इस जीवन की गुत्थी,
अब दोस्त बहुत याद आते है।

जब मैं मनाता हूं कोई त्यौहार
तो हंसते गाते दोस्त नजर आते है,
लेकिन अब तो होली, दिवाली भी मिलना नहीं होता।

कोई पैसा कमाने में व्यस्त है
तो कोई परिवार चलाने में व्यस्त है
याद करता हूं पुराने दिन तो
कुछ दोस्त बहुत याद आते है।

इंस्पायर्ड बाय – डॉ हरिवंश राय बच्चन

Poem on Friendship in Hindi – ‘Kuch Pal Ki Baatein’


(3)

कुछ पल की बातें,
कैसे दोस्ती में बदल गई पता नहीं चला।

कुछ हंसाने कुछ तराने याद आते है,
तेरे साथ बिताए हुए सारे पल याद आते।

ए दोस्त मैं जब तेरे साथ होता था,
तो पता नहीं कब सुबह से शाम हो जाती थी।

अब हर पल ऐसा लगता है ए दोस्त,
जैसे समय रुक सा गया है।

राह में चलते चलते मंजिलें तो मिल गई,
लेकिन तेरी दोस्ती छूट गई।

बचपन में देखे गए ख्वाब सब पूरे हो गए,
लेकिन तेरे बिना सब अधूरे से लगते है।

ए मेरे दोस्त एक बार फिर लोट आ,
फिर से वो बचपन के पल जीते है।

– नरेंद्र वर्मा

Main Na Janu dost Tere Dur Ho Jane Ke Baad Poem in Hindi


(4)

मैं ना जानू दोस्त तेरे दूर हो जाने के बाद,
यह जिंदगी कैसे जंग बन गई है।

मैं ना जानू दोस्त तेरे जाने के बाद,
यह गांव की गलियां कैसे सुनी हो गई है।

मैंने जानू दोस्त तेरे जाने के बाद,
वो खेल का मैदान अब सुना लगता है।

मैं ना जानू दोस्त तेरे जाने के बाद,
कैसे फूल जैसी जिंदगी पत्थर बन गई है।

खुद को मनाने की कोशिश करता हूं बहुत,
लेकिन क्या करूं दिल है कि मानता ही नहीं।

मैं ना जानू दोस्त तेरी दूर हो जाने के बाद,
मेरे चेहरे की हंसी कहां गुम हो गई।

मैं ना जानू दोस्त तेरे जाने के बाद,
बाजारों की रौनक भी फीकी लगती है।

तू कब आएगा मेरे भाई मेरे दोस्त,
तेरे को हर दिन गले लगाने का मन करता है।

– नरेंद्र वर्मा

Poem on Friendship in Hindi – ‘Main Yaadon Ki Kitab Kholu to’


(5)

मैं यादों की किताब खोलू तो
कुछ हंसते गाते चेहरे नजर आते है,
गौर से देखा तो कुछ दोस्त पुराने याद आते है।

कुछ शहरों के गुलाम हो गए
तो कुछ सपनों के गुलाम हो गए।

यादें और गहरी हुई तो
गुलाल में रंगे कुछ चेहरे याद आते है,
गौर से देखा तो कुछ दोस्त पुराने याद आते है।

धूल को उड़ते और
बारिश की बूंदों को टपकते देखा तो,
कुछ दोस्त पुराने याद आते है।

यादों की किताब के कुछ पन्ने पलटे तो
खट्टे-मीठे बेर और स्कूल के दिन याद आ गए ,
कुछ दोस्त पुराने याद आते है।

– नरेंद्र वर्मा


यह भी पढ़ें –

कृष्ण जन्माष्टमी कविता – Krishna Janmashtami Kavita

माँ पर 10 हिन्दी कविता | Sad Poem on Maa in Hindi

Sister Poem in Hindi

दोस्तों Poem on Friendship in Hindi आपको कैसी लगी, अगर अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ शेयर करना ना भूलें और अगर आपका कोई सवाल है चाहो तो हमें कमेंट करके बताएं।



अपना सुझाव और कमेन्ट यहाँ लिखे

You have to agree to the comment policy.