खरगोश पर निबंध – Essay on Rabbit in Hindi

Essay on Rabbit in Hindi : दोस्तों आज हमने खरगोश पर निबंध कक्षा 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8 के विद्यार्थियों के लिए लिखा है. इस निबंध की सहायता से सभी विद्यार्थी परीक्षाओं में निबंध लिख सकते है.

खरगोश बहुत ही सुंदर और प्यारा जानवर है यह अपनी चंचलता और सुंदरता के कारण सभी का मन मोह लेता है बच्चों को खरगोश बहुत पसंद आता है. इसलिए हमने इस निबंध की सहायता से खरगोश के बारे में जानकारी दी है.

Essay on Rabbit in Hindi

Get Some Essay on Rabbit in Hindi for Kids

10 Line Essay on Rabbit in Hindi


(1) खरगोश को पालतू जानवर के रूप में पाला जाता है.

(2) खरगोश सफेद, काले, भूरे रंग के होते है.

(3) खरगोश शाकाहारी जानवर है.

(4) इसके चार पैर और एक पूंछ होती है.

(5) इसके पूरे शरीर पर छोटे-छोटे मुलायम बाल होते है.

(6) यह बहुत चंचल होता है पूरे दिन भर उछल कूद करता रहता है.

(7) भोजन में खरगोश को गाजर खाना सबसे अधिक प्रिय है.

(8) इसके दो बड़े कान और दो चमकीली आंखें होती है.

(9) इसके मुंह में दो बड़े दांत होते है जिससे यह किसी भी वस्तु को कुतर देता है.

(10) खरगोश का जीवनकाल 8 से 10 वर्ष का होता है.

Essay on Rabbit in Hindi 200 words


खरगोश एक चौपाया जानवर है जो कि दिखने में बिल्ली की तरह दिखाई देता है लेकिन इसका स्वभाव बिल्ली के बिल्कुल विपरीत होता है. खरगोश को घरों में पालतू जानवर के रूप में पाया जाता है यह जंगल में भी पाया जाता है.

खरगोश मिट्टी के नीचे बिल (खड्डा) बनाकर रहता है. इसका शरीर छोटा और लचीला होता है इसके पूरे शरीर पर छोटे-छोटे मुलायम बाल होते है जिससे यह है गर्मी और सर्दियों से बचा रहता है.

यह भी पढ़ें – शेर पर निबंध – Essay on Lion in Hindi

खरगोश की दो चमकीली आंखें होती है और दो बड़े कान होते है जिससे यह कम ध्वनि भी सुन सकता है. खरगोश के मुंह में 28 दांत होते है. इसके चार पैर होते है जो कि इसको छलांग लगाने में मदद करते है. खरगोश सफेद, काले, सलेटी और भूरे रंग में पाए जाते है.

इस के एक पूंछ होती है जिससे यह अपने शरीर का बैलेंस बनाकर रखता है. इसके पैरों में नुकीले नाखूनों होते है जिससे यह जमीन को खोद देता है.

खरगोश को भोजन में गाजर, फूल, पत्ती, घास, झाड़ियां, सब्जियां, फल इत्यादि खाना बहुत पसंद होता है. इसका स्वभाव बहुत चंचल होता है इसलिए यह दिन भर इधर उधर उछल कूद करता रहता है. यह हमेशा झुंड में रहना पसंद करता है.

Essay on Rabbit in Hindi 750 words


खरगोश चंचल स्वभाव का जानवर है यह दिखने में बहुत ही खूबसूरत और प्यारा है इसलिए लोग इसे घरों में पालतू जानवर के रूप में पालते है. यह दिन भर उछल कूद करता रहता है इसलिए बच्चों को यह बहुत पसंद आता है बच्चे दिनभर इसके साथ खेलते है.

दुनिया भर में खरगोश की लगभग 305 प्रजातियां पाई जाती है अंटार्कटिका को छोड़कर यह सभी महाद्वीपों पर पाया जाता है. दक्षिणी अमेरिका में खरगोश की सबसे अधिक आबादी पाई जाती है.

खरगोश की शारीरिक संरचना –

खरगोश एक स्तनधारी जानवर होता है. इसके चार पैर होते है जिन की मांसपेशियां बहुत लचीली होती हैं जिससे यह है लंबी छलांग लगा पाता है और इसके पैरों में नुकीले नाखून होते है. जिससे यह जमीन को खोदकर अपना बिल बना लेता है.

खरगोश का आकार बिल्ली की तरह छोटा होता है. इसका पूरा शरीर छोटे-छोटे मुलायम बालों से ढका हुआ रहता है जिसके कारण यह गर्मी और सर्दियों में अपना बचाव कर लेता है. यह पूरे काले सफेद और सलेटी रंग में पाया जाता है.

इसके एक नाक होता है जिस की सूंघने की क्षमता बहुत अधिक होती है. इसके दो लंबे कान होते हैं जो कि 10 सेंटीमीटर तक लंबे हो सकते है जिससे यह कम ध्वनि की आवाजें भी साफ-साफ सुन सकता है. इसकी दो चमकीली आंखें होती है जिन से 360 डिग्री के कोण में देख सकता है.

खरगोश के एक पूंछ होती है मादा खरगोश के शरीर पर स्तन भी पाए जाते है जिससे यह अपने बच्चों को दूध पिलाती है. इसका शरीर बहुत लचीला होता है जिसके कारण ऊंचाई से गिरने पर भी इसे चोट नहीं आती है.

इसके मुंह में 28 दांत होते है ऊपर वाले जबड़े में आगे के दो दांत बड़े होते है जिससे यह भोजन को कुतर देता है इसके दोनों दांत जीवन भर बढ़ते रहते है. खरगोश बहुत तेजी से भाग सकता है.

खरगोश की जीवन शैली –

खरगोश की जीवन शैली बहुत होती है यह अन्य खरगोशों के साथ झुंड में रहना पसंद करता है. यह अक्सर जंगल में रहता है लेकिन लोग इसे पालतू जानवर के रूप में भी पालते है. यह जमीन के नीचे गड्ढा खोदकर रहता है. इसे पूरे दिन भर उछल कूद करना पसंद होता है.

खरगोश भोजन में सब्जियां घास फूल पत्ती फल सलाद अनाज इत्यादि खाना पसंद करता है लेकिन इसको गाजर खाना सबसे अधिक प्रिय होता है. खरगोश का जीवन काल 8 से 10 वर्ष का होता है. मादा खरगोश गर्भधारण करने के 1 महीने पश्चात 8 से 10 बच्चों को जन्म दे सकती है.

खरगोश की प्रजातियां –

पूरे विश्व में खरगोश की लगभग 305 नस्लें पाई जाती है जिनमें से कुछ प्रमुख के नाम इस प्रकार है – हॉलैंड लोप, रेक्स खरगोश, मिनी लोप, पोलिश, तैपती, अलास्का, मेक्सिकन, जर्सी वूली, वालकेनो, बर्ष इत्यादि है.

खरगोश के रोचक तथ्य – Rabbit Information in Hindi

(1) खरगोश 1 दिन में 8 से 10 घंटे सोता है.

(2) खरगोश के मुंह में 28 दांत होते है और इसके दांत जीवनभर बढ़ते रहते है.

(3) इसका का जीवनकाल 8 से 10 वर्ष का होता है

(4) मादा खरगोश का गर्भकाल लगभग 1 महीने का होता है

(5) खरगोश के बच्चे जन्म के पश्चात 10 से 11 दिन तक चल नहीं पाते है.

(6) इसके बच्चों के शरीर पर जन्म के समय बाल नहीं होते है.

(7) जन्म के समय खरगोश के बच्चों की आंखें बंद होती है यह लगभग 2 सप्ताह बाद खुलती है.

(8) खरगोश एक बार में 9 से 10 बच्चों को जन्म दे सकता है.

(9) यह शाकाहारी होता है

(10) यह कुछ समय के लिए 60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से भी दौड़ सकता है.

(11) नर खरगोश को Buck व मादा खरगोश को Doe और जवान खरगोश को kit (or kitten) कहा जाता है

(12) इसकी लंबाई 40 से 50 सेंटीमीटर होती है और इसका वजन 2 से 3 किलो तक हो सकता है.

(13) खरगोश अपनी आंखों से 360 डिग्री के कोण में देख सकता है लेकिन इसकी आंखों के ठीक नीचे ब्लाइंड स्पॉट होता है इसलिए यह जो भी भोजन करता है वह देख नहीं पाता है सिर्फ सूंघ कर ही उसका पता लगाता है.

(14) अगर खरगोश 12 घंटे तक भोजन नहीं करें तो इसकी मृत्यु भी हो सकती है.
खरगोश भी घोड़े की तरह है उल्टी नहीं कर सकते है.

(15) इंसानों की तुलना में खरगोश कि मुंह में में 5000 अधिक स्वाद कोशिकाएं होती है.

(16) खरगोश की सबसे अधिक आबादी दक्षिण अमेरिका में रहती है.

(17) यह 1 मिनट में 120 बार भोजन को चबाता है.

(18) एक वयस्क खरगोश 9 किलो के कुत्ते के बराबर पानी पी सकता है.

(19) दुनिया में ज्यादातर खरगोशों को केवल मांस के लिए पाला जाता है.


यह भी पढ़ें –

बाघ पर निबंध – Essay on Tiger in Hindi

कौआ पर निबंध – Essay on Crow in Hindi

बिल्ली पर निबंध – Essay on Cat in Hindi

हम आशा करते है कि हमारे द्वारा Essay on Rabbit in Hindi पर लिखा गया निबंध आपको पसंद आया होगा। अगर यह लेख आपको पसंद आया है तो अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ शेयर करना ना भूले। इसके बारे में अगर आपका कोई सवाल या सुझाव हो तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं।



अपना सुझाव और कमेन्ट यहाँ लिखे

You have to agree to the comment policy.