इंटरनेट पर निबंध – Essay on Internet in Hindi

Essay on Internet in Hindi : दोस्तों आज हमने इंटरनेट पर निबंध कक्षा 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 & 12 के विद्यार्थियों के लिए लिखा है. वर्तमान में पूरी दुनिया में इंटरनेट का उपयोग किया जा रहा है.

इसलिए विद्यार्थियों को इंटरनेट के बारे में जानकारी देने के लिए शिक्षक विद्यार्थियों से इंटरनेट पर निबंध लिखवाते है. इस निबंध की सहायता से सभी विद्यार्थी परीक्षाओं में निबंध लिख सकते है.

Essay on Internet in Hindi

Get Some Essay on Internet in Hindi for class 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 & 12 Students

Best Essay on Internet in Hindi 250 words


इंटरनेट दुनिया भर के कंप्यूटरों का जाल है यह टेलीफोन लाइन, उपग्रहों और प्रकाशीय केबल से जुड़ा हुआ है. टिम बर्नर्स ली ने सन् 1969 में ने इंटरनेट का आविष्कार किया था. प्रारंभ में इंटरनेट का उपयोग केवल अमेरिका में किया जाता था लेकिन धीरे-धीरे पूरे विश्व में इसने अपने पैर पसार लिए है.

इंटरनेट की प्रगति का एक कारण यह भी है कि आप पर हम सूचनाओं का आदान-प्रदान कर सकते हैं इसलिए लोगों को यह अत्यधिक पसंद आया. वर्तमान में हम इंटरनेट से लगभग सभी कार्य कर सकते है

जैसे कि बिल जमा कराना, टिकट बुक करना, वीडियो देखना, बातचीत करना, गेम खेलना, व्यापार करना, बैंकिंग और अन्य सरकारी और गैर सरकारी कार्यालय के कार्य इंटरनेट द्वारा व्यवस्थित और सुचारू ढंग से कर सकते है.

इंटरनेट पर हमें दुनिया जहां की सभी जानकारियां उपलब्ध होती है जैसे समाचार, शिक्षा, रोजगार, मौसम, विज्ञान, राजनीति और व्यापार की जानकारी उपलब्ध होती है.

वर्तमान में इंटरनेट जानकारियों का सबसे बड़ा भंडार बन चुका है यह में रोजगार से लेकर मनोरंजन और शिक्षा भी यहां से मिलती है. इंटरनेट का उपयोग करना बहुत आसान है इसके लिए हमें कंप्यूटर या फिर स्मार्टफोन की आवश्यकता होती है.

यह ई-मेल, ऑडियो, वीडियो, ग्राफिक, चित्र इत्यादि सूचनाएं पलक झपकते ही इंटरनेट पर पहुंचाया जा सकता है इसके बाद दुनिया के किसी भी कोने से इसको देखा और सुना जा सकता है.

इंटरनेट की सहायता से अच्छे अच्छे प्रोग्राम बनाए जा सकते हैं जिनको दूर से ही ऑपरेट कर के कार्य किया जा सकता है.

आज इंटरनेट से सभी इलेक्ट्रॉनिक वस्तुएं जैसे – कार, फ्रीज, पंखा, एसी, लाइट, मोबाइल, कंप्यूटर इत्यादि एक दूसरे से जुड़े हुए है जिसे हम इन्हें दूर बैठे कहीं से भी ऑपरेट कर सकते है और अपने जीवन को सुलभ बना सकते है.

Latest Essay on Internet in Hindi 500 words


भूमिका –

वर्तमान में इंटरनेट मानव सभ्यता का अभिन्न अंग बन गया है इंटरनेट पर दुनिया के हर कोने की खबर से लेकर हर प्रकार की जानकारी उपलब्ध है. आज अगर किसी से संपर्क करना हो तो इंटरनेट पर उस व्यक्ति को ढूंढा जा सकता है और जानकारी प्राप्त की जा सकती है.

इंटरनेट ने पूरी दुनिया को बहुत छोटा बना दिया है आज अगर हम सही विदेश में भी हो तो अपने देश की पल-पल की जानकारी रख सकते है. वास्तव में इंटरनेट ने मानव जीवन को बदल दिया है व्यापार करने के तरीके को बदल दिया है.

इंटरनेट का उपयोग –

वर्तमान में दुनिया का ऐसा कोई भी क्षेत्र नहीं है जहां पर इंटरनेट का उपयोग नहीं किया जा रहा हो. इंटरनेट सूचनाओं का भंडार है इसलिए यहां पर आपको हर प्रकार की सूचना जैसे – अंतरिक्ष, मौसम, तकनीक, दवाई, रोजगार, शिक्षा, व्यवसाय, पत्रिका, अखबार, समाचार, साहित्य, खेल, तत्कालीन घटनाएं, राजनीति और इत्यादि प्रकार के विषयों के बारे में जानकारी उपलब्ध है.

इंटरनेट का उपयोग हम ईमेल भेजने, वीडियो, चैटिंग, नेट सर्फिंग, बिल जमा कराने, टिकट बुक कराने, शॉपिंग करने के लिए, सूचनाएं बेचने और प्रदान करने के लिए, नौकरी खोजने और प्रदान करने के लिए, विज्ञापन करने के लिए, सीधे अपने ग्राहकों तक पहुंचने के लिए, मनोरंजन इत्यादि सभी कार्य करने के लिए इंटरनेट का उपयोग किया जाता है. वर्तमान में तो बच्चों की शिक्षा और उनके खेलने के लिए गेम्स भी इंटरनेट पर उपलब्ध है.

विज्ञान के क्षेत्र में भी इंटरनेट ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है इंटरनेट की सहायता से वैज्ञानिक एक दूसरे से जुड़कर नए नए आविष्कारों को अंजाम दे पाए है और अंतरिक्ष में घटने वाली घटनाओं की सूचना भी इंटरनेट के माध्यम से सभी को प्रदान की हैं

इसके कारण शिक्षा के क्षेत्र में तो बहुत अधिक बदलाव आया है क्योंकि पिछड़े हुए क्षेत्रों में इंटरनेट की उपलब्धता के कारण वहां के विद्यार्थियों को उत्तम शिक्षा मिल रही है जिससे रोजगार में वृद्धि हो रही है और देश की तरक्की भी तेजी से हो रही है.

इंटरनेट से नुकसान –

इंटरनेट का उपयोग लेना लाभप्रद है लेकिन इसका अत्यधिक उपयोग करना नुकसानदायक भी हो सकता है. इंटरनेट पर तरह तरह की जानकारियां उपलब्ध रहती है जो कि अगर बच्चे देख, सुन और पढ़ ले तो उनके लिए हानिकारक हो सकती है.

इसी प्रकार आजकल प्रत्येक व्यक्ति के पर्सनल और प्रोफेशनल दस्तावेज इंटरनेट पर सेव रहते है. इसलिए इनके चोरी होने का खतरा भी बना रहता है क्योंकि इंटरनेट पर कई प्रकार की गलतियां होती रहती है जिससे या तो पासवर्ड लीक हो जाता है या फिर कंप्यूटर विशेषक द्वारा आपका कंप्यूटर हैक करके जानकारी दे दी जाती है जिससे आपका भविष्य खराब हो सकता है.

इंटरनेट के अत्यधिक इस्तेमाल के कारण शारीरिक और मानसिक दुष्प्रभाव भी होने लगते है इसलिए हमेशा इंटरनेट को जरूरत के समय ही इस्तेमाल करना चाहिए.

निष्कर्ष –

इंटरनेट जानकारियों का समूह है जो दुनिया के सभी कंप्यूटरों से जानकारी प्राप्त करके हमें सर्च इंजन और अन्य वेबसाइटों की सहायता से सूचनाएं प्रदान करता है. आजकल सरकारी, गैर-सरकारी कार्यालयों, स्कूलों, कॉलेजों, हॉस्पिटलों, बैंक, छोटे से लेकर बड़े व्यापार में इंटरनेट का प्रयोग किया जाता है.

इंटरनेट के कारण दुनिया के प्रत्येक व्यक्ति को इससे लाभ पहुंचा है. लेकिन आज भी हमारे देश के कई ऐसे ऐसे हैं जहां पर इंटरनेट पहुंच नहीं पाया है इसलिए प्रत्येक व्यक्ति तक इंटरनेट पहुंचना चाहिए.

Full Essay on Internet in Hindi 1900 Words


प्रस्तावना –

इंटरनेट जब से दुनिया में आया है इसने लोगों के जीवन जीने के तरीके बदल दिए है, इंटरनेट के कारण पूरी दुनिया भर में क्रांतिकारी बदलाव देखने को मिले है.

इंटरनेट ने पूरी दुनिया को एक कंप्यूटर और मोबाइल मे समेट कर रख दिया है आप जब चाहे किसी से बात कर सकते है मनोरंजन के लिए संगीत, वीडियो देख सकते है और अन्य कार्य जैसे व्यापार, बैंकिंग, इंटरव्यू, न्यूज़, शिक्षा, ईमेल इत्यादि इंटरनेट की मदद से आप कहीं भी बैठकर कर सकते है.

इंटरनेट का इस्तेमाल करना बहुत आसान है इसलिए बच्चों से लेकर बड़ों तक सब इसका इस्तेमाल करते है. इंटरनेट आज मनुष्य के जीवन का अभिन्न अंग बन गया है इसके बिना भागदौड़ भरी जिंदगी में जीवन मुश्किल है. यह मानव सभ्यता का सबसे महत्वपूर्ण आविष्कार है.

इंटरनेट का इतिहास –

इंटरनेट का विकास धीरे धीरे टेलीफोन, रेडियो फ्रिकवेंसी और प्रोटोकोल की सहायता से हुआ था. सर्वप्रथम यूनाइटेड रक्षा विभाग ने 1960 के दशक में अपनी गुप्त फाइलों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर पहुंचाने के लिए इसका उपयोग किया था तब इसका नाम “अपरानेट” था लेकिन यह उस समय इतना स्टेबल और तेज नहीं था.

समय के साथ इंटरनेट में बदलाव आता गया और सन् 1969 में टिम बर्नर्स ली ने इंटरनेट का आविष्कार किया. इंटरनेट को भारत में आने में बहुत समय लगा लेकिन 80 के दशक में इंटरनेट का इस्तेमाल भारत में होने लगा था.

इंटरनेट के सुगम इस्तेमाल को एप्पल नाम की कंपनी ने सन् 1984 में कंप्यूटर में फाइल फोल्डर और ग्राफिक्स का इस्तेमाल किया जिसके कारण आज इंटरनेट चलाना बहुत आसान है अगर एप्पल कंपनी नहीं होती तो आज भी हमें कोडिंग करके ही इंटरनेट का इस्तेमाल करना पड़ता.

इंटरनेट के प्रारंभिक चरण में इसकी स्पीड केबीपीएस में होती थी फिर धीरे-धीरे एमबीपीएस और अब जीबीपीएस में इसकी स्पीड होती है जो की बहुत तेजी से सूचनाओं का आदान प्रदान करने में काम करती है.

इंटरनेट क्या है –

दुनिया के सभी कंप्यूटरों को आपस में जोड़ना ही इंटरनेट कहलाता है, सभी कंप्यूटर को जोड़ने के लिए दुनिया के अलग-अलग स्थानों पर बड़े-बड़े सर्वर स्थापित किए गए है जोकि संसार की सभी कंप्यूटरों को जोड़ने के लिए एक यूनिक आईडी प्रदान करते है.

कंप्यूटर की भाषा में इसे IP Address कहा जाता है. आईपी ऐड्रेस गणितीय कोड में होता है जिसे याद रखना मुश्किल होता है इसलिए DNS का इस्तेमाल किया जाता है जैसे www.hindiyatra.com इस तरह हम एक कंप्यूटर की सूचना इंटरनेट के माध्यम से दूसरे कंप्यूटर पर देख सकते है.

इंटरनेट के लाभ –

इंटरनेट की लोकप्रियता का इसी से पता लगाया जा सकता है कि आज प्रतिदिन एक व्यक्ति इंटरनेट पर 3 घंटे से ज्यादा व्यतीत करता है इसका मतलब इसका लाभ बहुत अधिक है इंटरनेट के लाभ निम्नलिखित है –

(1) संप्रेषण – इंटरनेट के माध्यम से हम किसी भी फाइल, फोटो, वीडियो, ऑडियो इत्यादि का आदान-प्रदान बहुत तेजी से कर सकते है. इंटरनेट से हम मोबाइल की तरह एक स्थान से दूसरे स्थान पर बात कर सकते है.

इंटरनेट पर हम एक दूसरे से बात करने के लिए ईमेल और चैटिंग भी कर सकते है. इसलिए वर्तमान में संप्रेषण का सबसे तेज और सुलभ साधन इंटरनेट बन गया है.

(2) ई-व्यापार – कुछ दशकों पहले तक व्यापार करने के लिए एक व्यापारी को दूसरे व्यापारी से मिलना पड़ता था तभी जाकर व्यापार को आगे बढ़ाया जा सकता था लेकिन जब से इंटरनेट का विस्तार हुआ है तब से इंटरनेट द्वारा ही व्यापार किया जाने लगा है.

एक व्यापारी अब अपने दुकान पर बैठकर दूसरे व्यापारी को ऑर्डर देता है और रुपए भी इंटरनेट के माध्यम से जमा करा देता है जिसस व्यापार सुलभ और तेजी से बढ़ रहा है. आजकल तो ऑनलाइन सामान बेचने वाली वेबसाइट भी आ गई है जिनसे ग्राहक सम्मान घर बैठे मंगवा सकता है. सचमुच इंटरनेट में व्यापार को बहुत सरल बना दिया है.

(3) ई-बैंकिंग – आज का बैंकिंग सिस्टम इंटरनेट पर ही आधारित है एक मिनट के लिए भी इंटरनेट बंद हो जाए तो लाखों का नुकसान हो सकता है पूरी बैंकिंग व्यवस्था बिगड़ सकती है.

पहले एक खाते से दूसरे खाते में रुपए जमा कराने के लिए बैंक की लंबी-लंबी कतारों में खड़ा होना पड़ता था लेकिन आजकल चुटकियों में एक खाते से दूसरे खाते में पैसा जमा हो जाते है. यह सब कुछ सिर्फ इंटरनेट के माध्यम से ही संभव हो पाया है. आज इंटरनेट बैंकिंग से हम घर बैठे शॉपिंग कर सकते हैं बिल जमा कर सकते है ट्रेन, बस, प्लेन होटल, सिनेमा आदि की टिकट बुक कर सकते है.

(4) मनोरंजन – टेक्नोलॉजी की दुनिया में मनोरंजन के लिए पहले रेडियो आया और फिर टेलीविजन लेकिन अब इंटरनेट का जमाना है. वर्तमान में इंटरनेट पर हर प्रकार के मनोरंजन के लिए अलग-अलग वेबसाइट उपलब्ध है. इन वेबसाइटों पर आप वीडियो, ऑडियो, गेम, सेटिंग इत्यादि सभी कार्य कर सकते है.

इंटरनेट पर बच्चों से लेकर बड़ों तक सभी के मनोरंजन के लिए मनोरंजन सामग्री उपलब्ध है जिसके कारण आजकल सभी लोग इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं और खूब आनंद उठाते है.

(5) ई-शिक्षा – कुछ वर्षों पहले तक शिक्षा ग्रहण करने के लिए हमें स्कूल या फिर किसी शिक्षक के पास जाना पड़ता था लेकिन आज इंटरनेट आने के बाद शिक्षा पाने के लिए हमें कहीं जाने की जरूरत नहीं है

हम घर बैठे जिस विषय पर हमें शिक्षा चाहिए उसकी शिक्षा हम ले सकते है और अगर आप शिक्षक हैं तो विद्यार्थियों को इंटरनेट के माध्यम से पढ़ा भी सकते है. इससे शिक्षक और विद्यार्थी दोनों के समय की बचत होती है. इंटरनेट के माध्यम से हम विदेशी पढ़ाई भी पढ़ सकते है.

इंटरनेट ने दूरदराज के ग्रामीण इलाकों में रहने वाले विद्यार्थियों को शिक्षा के क्षेत्र में बहुत सहायता पहुंचाई है.

(6) ई-रोजगार – जब से इंटरनेट का प्रयोग प्रत्येक व्यक्ति करने लगा है तो लोगों को इसे रोजगार भी मिलने लगा है आजकल लगभग सभी सरकारी कार्य इंटरनेट के माध्यम से ही होने लगे हैं जैसे राशन कार्ड आधार कार्ड पैन कार्ड और अन्य दस्तावेज बनाने के लिए इंटरनेट की सहायता होती है इसलिए ईमित्र जैसी सुविधाओं से व्यक्तियों को रोजगार मिल रहा है.

इंटरनेट पर पैसा कमाने के लिए कई लोग वीडियो, ऑडियो और लिखित सामग्री के माध्यम से भी पैसा कमाते है.
इंटरनेट से पैसा कमाने वाली कंपनी में आप Google का उदाहरण ले सकते हैं जो कि इंटरनेट के माध्यम से ही अरबों रुपए कमाती है.

(7) ई-चिकित्सा – कोई भी बीमारी हो जाने पर पहले हमें चिकित्सक के पास जाना पड़ता था लेकिन आजकल इंटरनेट आ जाने के कारण डॉक्टर इंटरनेट पर उपलब्ध रहते है उनकी फीस ई बैंकिंग की सहायता से उन्हें दे दी जाती है फिर भी आप की रिपोर्ट देखकर आप की बीमारी के बारे में सही सलाह दे सकते है.

साथ ही आजकल इंटरनेट पर ही दवाईयां मिलने लगी है जिससे आपको दवाई खरीदने के लिए भी दुकान पर नहीं जाना पड़ता है घर बैठे ही आपको दवाईयां मिल जाती है.

(8) ई-समाधान – इंटरनेट पर आपको प्रत्येक समस्या का समाधान मिल जाएगा. आजकल इंटरनेट पर हर विषय पर इतना सारा कांटेक्ट उपलब्ध है कि आपकी हर समस्या का समाधान इंटरनेट पर हो सकता है चाहे वह शिक्षा के क्षेत्र में हो या फिर अन्य कोई क्षेत्र हो.

(9) सुरक्षा – वर्तमान में कुछ असामाजिक तत्वो के कारण असुरक्षा महसूस होती है इसलिए जब भी आपको असुरक्षा महसूस होते तो आपके पास अगर इंटरनेट है तो आप अपने परिवार वालों को एक सेकंड में मैसेज भेज कर सहायता मांग सकते है.

या फिर ऐसी कोई अप्रिय घटना हो रही हो जो कि नहीं होनी चाहिए आप उसका वीडियो बना सकते हैं और लोगों को उसके बारे में सचेत कर सकते है. आजकल तो सीसीटीवी कैमरे भी इंटरनेट से जुड़े हुए होते हैं इसलिए आप अपनी दुकान घर ऑफिस को सीसीटीवी कैमरे की सहायता से अपने मोबाइल पर भी देख सकते है. इंटरनेट ने सुरक्षा को बहुत अधिक बढ़ा दिया है.

इंटरनेट से हानियां –

किसी भी वस्तु का अत्यधिक इस्तेमाल करना हानिकारक होता है इसलिए इंटरनेट का गलत या अधिक इस्तेमाल करना भी हमारे लिए घातक हो सकता है इसलिए इंटरनेट हानियां भी होती है जो कि निम्न लिखित है –

(1) मानसिक तनाव – इंटरनेट का अत्यधिक इस्तेमाल मानसिक तनाव को बढ़ावा दे सकता है आजकल ऑनलाइन चैटिंग के जमाने में लोग एक दूसरे को जाने बिना दोस्ती कर लेते हैं और बातें करते रहते है और कुछ इस तरह की बातें एक दूसरे से शेयर कर देते है जो कि उनके लिए बाद में घातक सिद्ध होती है.

कुछ लोग इंटरनेट पर ब्लैकमेल भी करते है या फिर ऐसे भाषा का इस्तेमाल करते है जिससे मानसिक तनाव बढ़ता है.

(2) शारीरिक दुष्प्रभाव – इंटरनेट पर हम कई बार ऐसे वीडियो ऑडियो या चित्र देख लेते है जिनको देखकर हम भी वैसा ही करने की कोशिश करते है जिससे हमारे शरीर पर बुरा प्रभाव पड़ता है.

इंटरनेट पर बाइक, कार और अन्य प्रकार के स्टंट के वीडियो उपलब्ध है जिनको देखकर बच्चे वैसा करने की कोशिश करते हैं और अपने शरीर को नुकसान पहुंचा लेते है. इसलिए इंटरनेट से शारीरिक दुष्प्रभाव भी हो सकते है.

(3) डाटा की चोरी – वर्तमान में सभी कंपनियों, सरकारी दस्तावेज, व्यक्तिगत दस्तावेज इत्यादि इंटरनेट पर ही है. तो इनके लीक होने का खतरा हर समय बना रहता है. और काफी कंपनियों का हर साल डाटा चोरी होता है जिसके कारण लाखों करोड़ों का नुकसान हो जाता है. इंटरनेट की दुनिया में डाटा चोरी होना एक प्रमुख समस्या है इससे बचने के लिए कई उपाय किए जाते हैं लेकिन फिर भी कहीं ना कहीं चूक हो जाती है इसलिए हमेशा इंटरनेट का इस्तेमाल
सावधानीपूर्वक करना चाहिए.

(4) गैरकानूनी गतिविधियां – इंटरनेट के माध्यम से कई गैरकानूनी विधियां की जाती हैं जैसे गैर कानूनी माल की सप्लाई के लिए जानकारी देना, आतंकवादी गतिविधियों बढ़ाने के लिए आतंकवादी इंटरनेट का इस्तेमाल ही करते है और भी अनेक कार्य है जो कि गैरकानूनी है और इंटरनेट पर छुपा कर किए जाते है.

(5) चिड़चिड़ापन – इंटरनेट का अत्यधिक इस्तेमाल करने से चिड़चिड़ापन होने लग जाता है क्योंकि हम जैसा चाहते हैं इंटरनेट पर वैसा नहीं होता है कई बार बच्चे ऑनलाइन इंटरनेट पर गेम खेलते रहते हैं और आउट हो जाने पर उनका स्वभाव चिड़चिड़ा हो जाता है. इंटरनेट पर कई हिंसक गेम, वीडियो और इत्यादि सामग्री उपलब्ध है जोकि चिड़चिड़ापन को बढ़ावा देती है.

(6) व्यवहार में बदलाव – वर्तमान में लोग एक दूसरे से मिलना बहुत कम पसंद करते हैं वे इंटरनेट पर ही दोस्त बनाना चाहते हैं और ज्यादातर समय इंटरनेट पर ही बताते हैं जिससे उनका व्यवहार पूरी तरह से बदल जाता है यह बात बात पर गुस्सा करते है, उनके बात करने की भाषा भी बदल जाती है.

(7) समय का दुरुपयोग – वर्तमान में ज्यादातर बच्चे और युवा लोग इंटरनेट पर ही समय व्यतीत करते हैं आप अपने आसपास नजर घुमा कर देखिए बस स्टैंड पर दुकान पर घर पर खेल के मैदान में सभी जगह लोग मोबाइलों में इंटरनेट चलाते दिख जाएंगे. इससे उनका जरूरी कार्य रुक जाता है और समय का दुरुपयोग होता है.

हाल ही में हुए एक सर्वे के अनुसार एक व्यक्ति इंटरनेट पर 3 घंटे से ज्यादा समय व्यतीत करता है जबकि इंटरनेट पर कार्य उसको 10 या 15 मिनट का होता है लेकिन फालतू के कार्य में वह समय व्यतीत करता रहता है.

उपसंहार –

इंटरनेट सीखने सिखाने और नए दोस्त बनाने का सर्वोत्तम साधन है वर्तमान की दुनिया इसी पर आधारित है इंटरनेट ने दुनिया को इतना सरल बना दिया है कि आज इंटरनेट के बिना इस दुनिया की कल्पना करना मुश्किल है.

इंटरनेट विज्ञान का सबसे महत्वपूर्ण आविष्कार है. इस के आविष्कार के बाद विज्ञान को जैसे पंख ही लग गए है. इससे दुनिया के हर क्षेत्र में विस्तार हुआ है इंटरनेट का उपयोग अगर सही काम के लिए किया जाए तो यह बहुत ही अच्छा है.

लेकिन इसका दुरुपयोग किया जाए तो इसके बहुत गंभीर परिणाम हो सकते है इसलिए इंटरनेट को हमेशा सावधानीपूर्वक इस्तेमाल करना चाहिए.

Essay on Internet in Hindi


यह भी पढ़ें –

मोबाइल फोन पर निबंध – Essay on Mobile Phone in Hindi

समाचार पत्र पर निबंध – Essay on Newspaper in Hindi

कंप्यूटर पर निबंध – Essay on Computer in Hindi

डिजिटल इंडिया पर निबंध – Digital India Essay in Hindi

वर्षा ऋतु पर निबंध – Essay on Rainy Season in Hindi

हम आशा करते है कि हमारे द्वारा Essay on Internet in Hindi पर लिखा गया निबंध आपको पसंद आया होगा। अगर यह लेख आपको पसंद आया है तो अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ शेयर करना ना भूले। इसके बारे में अगर आपका कोई सवाल या सुझाव हो तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं।



अपना सुझाव और कमेन्ट यहाँ लिखे

You have to agree to the comment policy.