बाज़ पर निबंध – Essay on Eagle in Hindi

Essay on Eagle in Hindi आज हम बाज़ पर निबंध हिंदी में लिखने वाले हैं. यह निबंध कक्षा 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9 ,10, 11, 12 और कॉलेज के विद्यार्थियों के लिए है. इस निबंध को हमने अलग-अलग शब्द सीमा में लिखा है जिससे अनुच्छेद और निबंध लिखने वाले विद्यार्थियों को कोई भी परेशानी नहीं हो और वह Eagle के बारे में अपनी परीक्षा में लिख सकेंगे.

10 line Essay on Eagle in Hindi


1. बाज़ पक्षियों में सबसे बड़ा पक्षी होता है.

2. बाज़ एक मांसाहारी पक्षी है.

3. यह मुख्य रूप से भोजन में सांप, मछली, चूहा, मेंढक इत्यादि खाते है.

4. यह पक्षियों में सबसे ऊंची उड़ान भर सकते हैं लगभग 12000 किलो मीटर ऊंचा उड़ सकते है.

Essay on Eagle in Hindi

Get some information on Eagle in Hindi

5. बाज़ आसमान में बिना पंखों को हिलाएं हवा में अधिक समय तक उड़ सकता है.

6. यह लगभग 5 किलोमीटर दूरी से ही अपने शिकार को देख लेता है.

यह भी पढ़ें – ऊँट पर निबंध – Essay on Camel in Hindi

7. बाज़ की औसतन उम्र 70 साल होती है.

8. यह लगभग दुनिया के हर देश में पाया जाता है और दुनिया भर में इसकी 60 से अधिक प्रजातियां अभी तक खोजी जा चुकी है.

9. यह पक्षी अकेले में जंगलों में पहाड़ियों के ऊपर रहना पसंद करता है.

10. बाज़ लगभग 200 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ सकता है, जो कि एक छोटे जेट इंजन के बराबर है.

Essay on Eagle in Hindi 700 words


बाज़ आसमान में लगभग 12000 फीट ऊंचा उड़ सकता है यह बारिश के दिनों में हमेशा बादलों के ऊपर उड़ता है शायद इसीलिए इसे आसमान का राजा भी कहा जाता है. बाज़ हवा में एक जगह मंडरा सकते हैं जैसे एक पतंग हवा में एक जगह उड़ती रहती है.

एक वैज्ञानिक शोध के अनुसार बाज़ की नजर बहुत तेज होती है यह अपने शिकार को 5 किलोमीटर दूर से ही देख सकता है साथ ही इनकी आंखों में इन्फ्रारेड सिस्टम विकास हो गया है जिसकी वजह से यह है शिकार के शरीर से निकलने वाली गर्मी को पहचान कर उसका शिकार कर सकता है.

यह भी पढ़ें – Essay on Peacock in Hindi – भारत के राष्ट्रीय पक्षी मोर पर निबंध

Eagle की नजर का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि बाज़ को आसमान से ही पानी में तैरती हुई मछली दिखाई दे जाती है और बाज़ पानी में गोता लगाकर मछली को पकड़ सकता है.

बाज़ की चोंच एक अलग तरह से बनी होती है इनकी चोच 90 डिग्री के कोण पर मुड़ी हुई होती है चोच के दोनों तरफ एक छोटा दांत बाहर निकला हुआ होता है. यह अपने शिकार को देखते हैं लगभग 200 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से शिकार की तरफ बढ़ते है.

और जैसे ही कोई मेंढक या चूहा पकड़ते है तो उसकी गर्दन पर ऐसी जगह पर वार करते है जिससे उसका नर्वस सिस्टम काम करना बंद कर देता है.

जिसे शिकार मुकाबला नहीं कर पाता है और मारा जाता है. बाज़ अपने से दो गुना बड़े शिकार को पकड़ सकता है, कभी-कभी यह अपने से इतने बड़े शिकार को पकड़ लेते हैं कि एक बार में उसे खा भी नहीं पाते है. Eagle शिकार करके अपने भोजन को ऊंची पहाड़ियों में बने अपने घोसलों में छोड़ देते है.

और बाद में जब इन्हें भूख लगती है तब यह उस शिकार को आ कर खा लेते है. बाज़ की आंखें अपने शिकार को बिना पलक झपकाए अधिक समय तक देख सकती हैं इसी कारण ये अपने शिकार से कम ही चुकते है.

बाज़ एक मांसाहारी पक्षी होता है इसका भोजन सांप, मछली, मेंढक, खरगोश, चूहे और छोटे पक्षी होते है. यह पक्षी लगभग पूरी दुनिया में ही पाया जाता है यह ज्यादातर ऊंची पहाड़ियों और चट्टानों पर अपना घोंसला बनाते है लेकिन ज्यादातर बाज़ पक्षी दूसरे पक्षियों के घोंसलों पर कब्ज़ा करके यह रहते है. विश्व भर में इसकी 60 से भी अधिक प्रजातियां पाई जाती है.

यह भी पढ़ें – तोते पर निबंध – Essay on Parrot in Hindi

एक वयस्क बाज़ का वजन लगभग 10 किलो तक हो सकता है. इसके फल का आकार में बहुत बड़े और पतले होते हैं जिसके कारण यह ज्यादा देर तक हवा में उड़ पाते है. मादा बाज़ पक्षी साल में एक बार 3 से 4 अंडे देती है और जब तक उनमें से उसके बच्चे नहीं निकल आते है वह उनके ऊपर बैठी रहती है.

बाज़ के बच्चे अंडे में से औसतन 35 से 40 दिनों के अंदर बाहर निकल आते है. एक बाज़ की औसतन आयु 60 से 70 वर्ष होती है. उनके पंख और सोच लगातार बढ़ती रहती है इसलिए जैसे-जैसे यह व्यस्त होते है. इन्हें अपनी चोच से भोजन खाने में दिक्कत होने लगती है इसीलिए यह चट्टानों पर जाकर अक्सर अपनी चोच घिसते रहते है.

इनके पंजों की बात करें तो पैर के पंजे बहुत ही ताकतवर और नुकीले होते हैं जिससे यह किसी भी सांप या मछली को अगर एक बार पकड़ ले तो उसके बाद छोड़ते नहीं है. यह पक्षी ज्यादातर अकेले रहना ही पसंद करता है.

बाज़ की अलग-अलग प्रजातियों का रंग काला, सफेद, भूरा होता है इसकी प्रमुख प्रजातियां ‎Indian spotted eagle, ‎Bald eagle, ‎Golden eagle, ‎Philippine eagle है.


यह भी पढ़ें –

तीतर पक्षी पर निबंध – Essay on Teetar Bird in Hindi

Birds Name in Hindi and English पक्षियों के नाम List of Birds

हंस पर निबंध – Essay on Swan Bird in Hindi

हम आशा करते है कि हमारे द्वारा Essay on Eagle in Hindi पर लिखा गया निबंध आपको पसंद आया होगा। अगर यह लेख आपको पसंद आया है तो अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ शेयर करना ना भूले। इसके बारे में अगर आपका कोई सवाल या सुझाव हो तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं।

अपना सुझाव और कमेन्ट यहाँ लिखे

You have to agree to the comment policy.