पेड़ों का महत्व पर निबंध – Essay on Importance of Trees in Hindi

Essay on Importance of Trees in Hindi : दोस्तों आज हमने पेड़ों का महत्व पर निबंध कक्षा 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10 और 12 के विद्यार्थियों के लिए लिखा है. वर्तमान में पेड़ों की अंधाधुंध कटाई के कारण पृथ्वी का वातावरण बुरी तरह से प्रदूषित हो चुका है.

इसलिए हमने इसमें बताया है कि पेड़ों की सहायता से कैसे हम प्रदूषित वातावरण को ठीक कर सकते है और पेड़ हमारे जीवन में किस प्रकार से महत्व रखते है.

यह निबंध हमने विद्यार्थियों की सहायता के लिए अलग-अलग शब्द सीमा में लिखा है जिसे प्रत्येक कक्षा के विद्यार्थियों को परीक्षा में निबंध लिखने में आसानी हो.

Essay on Importance of Trees in Hindi

Get Essay on Trees in Hindi under 150, 250, 500 and 1100 words for Student

Essay on Importance of Trees in Hindi 100 Words


पेड़ हमारे जीवन के साथी है यह हमें जीवन जीने के लिए कार्बन डाइऑक्साइड को अवशोषित कर के प्राण वायु ऑक्सीजन उपलब्ध करवाते है.

अगर पेड़ नहीं होंते तो पृथ्वी पर जीवन संभव नहीं होता, पेड़ की हमारी प्रकृति है जो की पूरी पृथ्वी को हरा भरा और खुशहाल बना कर रखते है.

पेड़ जीवन भर हमें कुछ ना कुछ देते ही रहते है, फिर भी हम अपने निजी स्वार्थ के लिए पेड़ों को काट देते है. आज यह बहुत ही विडंबना का विषय है कि जो पेड़ हमें जीवन दे रहे है हम उन्हीं को नष्ट करने पर तुले हुए है.

अगर हमें पृथ्वी को बचाए रखना है तो अधिक से अधिक मात्रा में पेड़ लगाने होंगे.

Importance of Trees in Hindi 250 Words


पेड़ प्रकृति का अनमोल उपहार है, पेड़ों के कारण ही इस हरी भरी पृथ्वी और हमारा जीवन खुशहाल है. पेड़ सच्चे योद्धा है जो जन्म से ही हमारे लिए प्रदूषण से लड़ते रहते है और हमें स्वच्छ व सुंदर पर्यावरण देते है.

पेड़ हमारी पृथ्वी पर हजारों वर्षों से है ये चल फिर नहीं सकते लेकिन इंसानों की तरह श्वास ले सकते है. पेड़ प्रदूषण वाली जहरीली कार्बन डाइऑक्साइड को अवशोषित करके हमें शुद्ध ऑक्सीजन प्रदान करते है.

पेड़ जीवन भर हमें खाने के लिए फल और अनाज, बारिश भी इन्हीं की वजह से होती है जिससे हमें पीने को जल मिलता है, कपड़े, ईंधन के लिए लकड़ी, कागज, रबर, बीमारियों को दूर करने के लिए जड़ी बूटियां, गर्मियों में ठंडी छांव देते है.

बारिश के दिनों में भूमि के कटाव को रोकते है, पेड़ों के पत्तों से भूमि उपजाऊ हो जाती है, पेड़ अन्य जीव जंतु को रहने के लिए घर के समान स्थान देते है और अन्य बहुमूल्य खनिज संपदा भी इन्हीं की देन है.

लेकिन धीरे-धीरे जब से औद्योगिकीकरण और शहरीकरण बढ़ा है वैसे वैसे मानव द्वारा पेड़ों की अंधाधुंध कटाई की गई है जिसके कारण पड़ते का प्राकृतिक संतुलन गड़बड़ा गया है.

शहरों में पेड़ नहीं होने के कारण वहां पर वर्षा कम होती है और वायु प्रदूषण भी अधिक मात्रा में रहता है. अगर पेड़ों की कटाई निरंतर इसी गति से चलती रही तो वह दिन दूर नहीं है जब पृथ्वी का विनाश हो जाएगा.

पेड़ हमारे जीवन के लिए बहुत जरूरी है इसलिए हमें लोगों को जागरूक करना होगा और अधिक से अधिक पेड़ लगाने होंगे जिससे हमारा आने वाला भविष्य सुरक्षित और स्वच्छ हो.

Essay on trees in Hindi 500 Words


प्रस्तावना –

पेड़ प्रकृति की अनुपम देन है, पेड़ एक देश की बहुमूल्य संपदा होते है इन्हें हरा सोना भी कहा जाता है. जहां पर पेड़ अधिक मात्रा में होते है वहां की जलवायु स्वच्छ और सुंदर होती है.

साथ ही वहां पर जीवन जीने के लिए बहुत अधिक खनिज संपदा उपलब्ध होती है. हमारे भारत देश में तो पेड़ों की पूजा की जाती है उनको उतना ही मान सम्मान दिया जाता है जितना कि किसी मनुष्य को दिया जाता है.

लेकिन जब से हमने पश्चिमी सभ्यता को अपनाना शुरू किया है और शहरीकरण जैसे बढ़ रहा है उसके कारण पेड़ों की कटाई बहुत तेजी से हो रही है जिस तेजी से पेड़ों की कटाई हो रही है तेजी से पेड़ों को पुनः नहीं लगाया जा रहा है.

यह सिर्फ हमारे देश में ही नहीं हो रहा यह पूरे विश्व में हो रहा है. इसके कारण पृथ्वी की पूरी जलवायु और ऋतु परिवर्तन गड़बड़ा गया है.

पेड़ों के लाभ –

(1) पेड़ वातावरण को स्वच्छ एवं सुंदर बनाते है.

(2) पेड़ हमारे वातावरण से दूषित एवं जहरीली कार्बन डाइऑक्साइड एवं अन्य गैसों को अवशोषित करके हमें स्वच्छ ऑक्सीजन प्रदान करते है.

(3) जहां पर अधिक मात्रा में पेड़ होते है वहां पर ध्वनि प्रदूषण भी बहुत कम मात्रा में होती है क्योंकि पेड़ों की सघनता आवाज को फैलने नहीं देती है.

(4) जहां पर भी पेड़ अधिक मात्रा में होती है भूमि का कटाव नहीं होता और इन की सहायता से भूमि की अम्लता में भी कमी आती है.

(5) पेड़ों की सुखी पत्तियों से हमें जैविक खाद मिलती है जो की भूमि को उपजाऊ बनाती है. इसके कारण फसल अच्छी होती है.

(6) पेड़ हमें गर्मियों में ठंडी छांव प्रदान करते है.

(7) पेड़ों के कारण ही हमारी पृथ्वी के वातावरण में समय समय पर बदलाव आता रहता है जिसके कारण पृथ्वी का संतुलन बना रहता है.

(8) पेड़ों से हमें फूल, फल, रबर, लाख, रेशम, कागज, दियासलाई, लकड़ी, जड़ी-बूटियां और अन्य खनिज पदार्थ प्राप्त होते है.

(9) पेड़ अत्यधिक तेज जल प्रवाह को रोककर बाढ़ को आने से रोकते है.

(10) वृक्षों के कारण ही हमारी वन्य जीव संपदा आज सुरक्षित है.

(11) वृक्षों के कारण ही प्रत्येक स्थान पर सही मात्रा में वर्षा होती है जिससे हमें फसल के लिए और पीने योग्य मीठा जल प्राप्त होता है.

(12) पेड़ सभी प्राणियों के जीवन के रक्षक होते है.

निष्कर्ष –

पेड़ हमारी बहुमूल्य संपदा है अगर लगातार हम इसका दोहन करते रहे तो यह संपदा समाप्त हो जाएगी फिर हमारा जीवन भी समाप्त हो जाएगा.

हमें वृक्षों की महत्वता को समझना होगा क्योंकि संपूर्ण प्रकृति के रक्षक है जब तक यह पृथ्वी पर विद्यमान है तब तक पृथ्वी पर जीवन है इन के बिना पृथ्वी सिर्फ एक सूखा और बंजर ग्रह बन जाएगा.

आज बढ़ते हुए शहरीकरण और हमारे थोड़े से स्वार्थ के कारण पेड़ों की संख्या कम हो गई है जिसका बदलाव आप देख सकते हैं कि पृथ्वी का तापमान बढ़ रहा है और वातावरण भी संतुलित हो गया है.

इसलिए हमें आज और अभी से जागरूक होकर वृक्षों की संख्या को बढ़ाना होगा जिससे हमारा वातावरण और जीवन सुगमता चलता रहे.

Essay on Importance of Trees in Hindi 1100 Words


रूपरेखा –

हमारे जीवन में पेड़ों का बहुत अधिक महत्व है क्योंकि मानव सभ्यता का उदय इन्हीं के कारण हुआ है और प्रारंभिक जीवन पेड़ों के समूह (वनों) के बीच में ही व्यतीत हुआ है.

इन्हीं की पत्तियां और शाखाएं लेकर हमने घर बनाए है, इनसे ही हमें खाद्य पदार्थ और ऊर्जा के लिए लकड़ियां प्राप्त हुई है.

वृक्षों से ही हमने हथियार बनाए हैं और उन्हीं की सहायता से शिकार किया है. विज्ञान की शुरुआत भी पेड़ों से ही हुई है क्योंकि जब पहला पहिया बनाया गया था तो वह लकड़ी का ही बनाया गया था.

जिसने विज्ञान और मनुष्य के जीवन में इतनी तेजी से बदलाव ला दिया कि आज उसी पहिए से पेड़ों को रौंदा जा रहा है. यह बहुत ही विडंबना का विषय है कि जिन वृक्षों की वजह से आज हम इतनी सुख समृद्धि से जीवन यापन कर रहे है और स्वच्छ ऑक्सीजन ले रहे है,

बदले में हम उन्हीं का विनाश कर रहे है. यह हिंदी की एक कहावत के अनुसार अपने पैर पर कुल्हाड़ी मारने के जैसा ही है क्योंकि जैसे ही वृक्ष हमारी पृथ्वी से विलुप्त हो जाएंगे उसी समय मानव सभ्यता भी नष्ट हो जाएगी.

वृक्षों का मानव जीवन में महत्व – Uses of Trees in Hindi

(1) वृक्षों से हमें प्राणवायु ऑक्सीजन मिलती है.

(2) पेड़ों से वायु, जल और ध्वनि प्रदूषण को कम करने में सहायता मिलती है.

(3) इनसे में बहुमूल्य जड़ी बूटियां प्राप्त होती है जिससे कई प्रकार की बीमारियां ठीक हो जाती है.

(4) वृक्षों से हमें भोजन करने के लिए फल और अन्न मिलता है.

(5) वृक्षों से में सूखी लकड़ियां प्राप्त होती है जिससे हम आग जला कर ऊर्जा प्राप्त कर सकते है और दरवाजे, चारपाई पहिए, मशीनों के कल-पुर्जे, छोटे हथियार, पानी के जहाज इत्यादि बना सकते है.

(6) पेड़ गर्मियों के दिनों में हमें ठंडी छांव प्रदान करते है जिससे हमें कम गर्मी लगती है.

(7) वृक्षों से हमें गोंद, रेशम, रबर, लाख कागज और अन्य खनिज पदार्थ प्राप्त होते है जो कि हमारे उद्योग धंधों के लिए और हमारे जीवन के लिए बहुत आवश्यक है.

(8) पेड़ों के कारण पृथ्वी की ओजोन परत सुरक्षित रहती है इसके कारण सूर्य से आने वाली पराबैंगनी किरणों से हमारी सुरक्षा होती है.

(9) पेड़ों के कारण ही अच्छी मात्रा में वर्षा होती है जिससे नदियों, तालाबों और भूमिगत जल में वृद्धि होती है, और हमें पीने के लिए स्वच्छ और मीठा जल प्राप्त होता है.

(10) वृक्षों के कारण पृथ्वी की सतह ठंडी रहती है जिससे तापमान में वृद्धि नहीं होती है.

(11) पेड़ों के कारण ही पृथ्वी का वातावरण व्यवस्थित रूप से कार्य कर पाता है.

(12) पेड़ भूमि के कटाव को रोकते है और बाढ़ आने से रोकते है.

(13) वृक्षों के कारण कुछ हद तक भूकंप आने की संभावना भी कम हो जाती है.

(14) पेड़ों से प्रकृति में हरियाली रहती है और पूरे वातावरण में ठंडी हवा चलती है.

वृक्षों का वन्य जीवो में महत्व –

वृक्षों का वन्य जीव जंतुओं के जीवन में भी बहुत महत्व है क्योंकि वृक्ष ही उनका घर है. वन्य जीव जंतुओं को भी भोजन पेड़ों के माध्यम से ही प्राप्त होता है.

गर्मियों के दिनों में चिलचिलाती धूप से बचने के लिए वे पेड़ों की छांव में ही बैठते है कुछ वन्य जीव अपना शिकार करने के लिए पेड़ों के पीछे ही छुपते है. पक्षी अपना घोंसला पेड़ों पर ही बनाते है और उन्हीं की छोटी शाखाओं का इस्तेमाल करके घोंसला बनाते है.

इसीलिए जहां पर अधिक पेड़ होते हैं वहां पर पशु पक्षी अधिक मात्रा में पाए जाते है.

वृक्षों की कमी के दुष्प्रभाव –

वर्तमान में वृक्षों के जंगल की जगह सीमेंट के जंगलों ने ले ली है जिसके कारण पूरी पृथ्वी का वातावरण प्रभावित हुआ है. वृक्षों की कमी के कारण हमें क्या क्या नुकसान हुआ है इसको हम निम्नलिखित बिंदुओं के माध्यम से समझेंगे –

(1) वृक्षों की कमी के कारण जल, वायु और ध्वनि प्रदूषण में बहुत अधिक मात्रा में वृद्धि हो रही है इसके कारण तरह-तरह की गंभीर बीमारियां मानव जीवन में फैल रही है.

(2) वृक्षों की कमी के कारण पृथ्वी का तापमान प्रतिवर्ष 1 से 2 डिग्री बढ़ रहा है.

(3) पेड़ों की कमी के कारण सभी स्थानों पर वर्षा सही मात्रा में नहीं हो रही है जिसके कारण कुछ जगहों पर सुखा तो कुछ जगहों पर बाढ़ आ रही है और प्रकृति तबाह हो रही है.

(4) पेड़ों से जो शांति और सुख मिलता है वह नहीं मिल पा रहा है क्योंकि शहरों में लोगों को पेड़ों की जगह इमारतों होने घेर लिया है जिसके कारण वहां पर ना तो स्वच्छ वायु पहुंच पाती है ना ही ठीक प्रकार से धूप पहुंच पाती है.

(5) प्रदूषण इतना बढ़ गया है कि लोगों का जीवन मुश्किल में पड़ गया है कुछ शहरों में तो नौबत यहां तक आ गई है कि लोग अब मुंह पर मास्क लगाकर चलते है.

(6) पेड़ों की कमी के कारण पृथ्वी का वातावरण गड़बड़ा गया है जिसके कारण आए दिन भूकंप और सुनामी आती रहती है.

(7) पेड़ों की कमी के कारण लगातार रेगिस्तान का विस्तार हो रहा है.

(8) वृक्षों की अत्यधिक कटाई के कारण ही शांत पड़े ज्वालामुखी फिर से सक्रिय हो गए है जिनसे विषैली गैसे निकलती रहती है जो की पूरी पृथ्वी के लिए हानिकारक है.

(9) वृक्षों की कटाई के कारण वन्य जीव जंतु का जीवन संकट में पड़ गया है उनकी कुछ प्रजातियां तो विलुप्त भी हो गई है और कुछ विलुप्त होने की कगार पर है.

(10) बदलती जलवायु के कारण मनुष्य का स्वभाव भी चिड़चिड़ा और गुस्सैल हो गया है.

पेड़ों के रोचक तथ्य –

(1) 50 पेड़ों का समूह है प्रतिवर्ष 80 पाउंड प्रदूषण को अवशोषित कर लेता है.

(2) इमारतों के आसपास पेड़ लगाने से इमारतें 30% अधिक ठंडी रहती है

(3) एक पेड़ एक साल में एक कार के 26000 किलोमीटर चलने पर जितना प्रदूषण होता है उतना अवशोषित कर लेता है.

(4) एक पेड़ अपने पूरे जीवन काल में 1 टन से भी ज्यादा कार्बन डाइऑक्साइड को अवशोषित कर लेता है.

(5) पेड़ प्रति वर्ष लगभग 260 पाउंड ऑक्सीजन पैदा करता है.

उपसंहार –

पेड़ हमारे जीवन का अभिन्न अंग है और इनकी रक्षा करना हमारा दायित्व है. जब तक पृथ्वी पर पेड़ों का अस्तित्व है तब तक ही मानव सभ्यता का अस्तित्व है इसलिए हमें पेड़ों की सुरक्षा करनी होगी.

आज वह समय फिर से आ गया है जब पेड़ों को बचाने के लिए चिपको आंदोलन हुए थे. क्योंकि शहरीकरण और बड़े-बड़े हाईवे बनाने के लिए पेड़ों को काटा जा रहा है लेकिन उनको फिर से लगाया नहीं जा रहा है.

कुछ लालची लोगों द्वारा वनों की अंधाधुंध कटाई की जा रही है लेकिन सरकार द्वारा कुछ भी नहीं किया जा रहा है. हमारी सरकार नहीं पेड़ों को बचाने के लिए कई वन रक्षकों की नियुक्ति की है लेकिन वे भी थोड़े से लालच के चलते पेड़ों को काटने में सहयोग कर रहे है.

इसके कारण पृथ्वी का पूरा वातावरण प्रभावित हो रहा है अगर यूं ही चलता रहा तो आने वाले कुछ ही वर्षों में पीने के लिए जल की कमी और खाने के लिए खाद्य पदार्थ की कमी हो जाएगी साथ ही जीवन के लिए सबसे महत्वपूर्ण स्वच्छ हवा की भी कमी हो जाएगी.

इसलिए हम युवा पीढ़ी को सभी लोगों को जागरुक करके Ped ke Mahatva के बारे में बताना होगा और अभियान चलाकर अधिक मात्रा में पेड़ लगाने होंगे.


यह भी पढ़ें –

प्लास्टिक प्रदूषण पर निबंध दुष्प्रभाव, निवारण – Plastic Pollution

Essay on Van Mahotsav in Hindi – वन महोत्सव पर निबंध

Ped ki Atmakatha in Hindi – एक पेड़ की आत्मकथा पर निबंध

Slogans on Save Trees in Hindi – पेड़ बचाओ पर 45 स्लोगन

हम आशा करते है कि हमारे द्वारा Essay on Importance of Trees in Hindi आपको पसंद आया होगा। अगर यह लेख आपको पसंद आया है तो अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ शेयर करना ना भूले। इसके बारे में अगर आपका कोई सवाल या सुझाव हो तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं।


25 Comments

अपना सुझाव और कमेन्ट यहाँ लिखे

You have to agree to the comment policy.