डॉक्टर पर निबंध – Essay on Doctor in Hindi

Essay on Doctor in Hindi : आज हमने डॉक्टर पर निबंध कक्षा 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9 & 10 के विद्यार्थियों के लिए है। डॉक्टर हमारी समाज में एक अहम स्थान रखते है।

इनके बिना बीमारियों का समाधान संभव नहीं है। यह बुरी से बुरी परिस्थितियों में भी काम करने के लिए हमेशा तैयार रहते है। इसीलिए आज हमने इन पर निबंध लिखा है।

Get Some Best Essay on Doctor in Hindi Essay in Hindi for Class 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9 & 10 Students.

Best Essay on Doctor in Hindi


5 Simple Sentences About Doctor in Hindi

(1) डॉक्टर को चिकित्सक या वेद भी कहा जाता है।

(2) डॉक्टर खांसी जैसी छोटी बीमारी से लेकर दुर्गम बीमारियों का इलाज करते है।

(3) डॉक्टर हमेशा रोगी को स्वस्थ बनाने के लिए तत्पर रहते है

(4) डॉक्टर हर प्रकार की स्थिति में अपना मन शांत रखता है इनको ईश्वर का दूसरा रूप माना जाता है

(5) यह अपने कार्य करने की क्षमता और कर्तव्य का पालन करते हुए सबका विश्वास जीत लेते है।

New Essay on Doctor in Hindi


डॉक्टर को भगवान के बराबर दर्जा दिया गया है क्योंकि यही वह इंसान है जो कि हमें छोटी से छोटी बीमारी से लेकर बड़ी दुर्गम बीमारियों को दूर करने में हमारी सहायता करता है।

डॉक्टर ही है जो हमारी काया को फिर से स्वस्थ बनाता है आजकल की भागदौड़ भरी दुनिया में बहुत अधिक बीमारियां फैल गई है कुछ का निदान संभव है तो कुछ का नहीं है लेकिन फिर भी एक डॉक्टर हमेशा हमें स्वस्थ करने के लिए तत्पर रहता है।

एक डॉक्टर का जीवन बहुत संघर्ष पूर्ण होता है क्योंकि उसे प्रत्येक रोगी को नियमित रूप से देखना होता है और उसे किस प्रकार की दवाइयाँ लेनी है यह भी सोचना पड़ता है।

साथ ही कई बार आपातकालीन स्थिति में डॉक्टर अपनी नींद भी पूरी नहीं कर पाता है फिर भी वह अपने कर्तव्य से कभी पीछे नहीं हटता है।

डॉक्टर स्वभाव बहुत ही निर्मल और उदार किस्म का होता है क्योंकि अगर वह गुस्सा करेगा तो रोगी को आघात पहुंच सकता है जिससे लोगी और बीमार पड़ सकता है इसलिए डॉक्टर हमेशा शांत रहता है इसी स्वभाव और डॉक्टर की बेहतरीन दक्षता के कारण लोग इन पर बहुत अधिक विश्वास करते है।

डॉक्टर को समाज में हमेशा सम्मान दिया जाता है और एक अच्छी नजर से देखा जाता है। पुराने जमाने से लेकर अब तक चिकित्सा पद्धति में बहुत अधिक बदलाव आ चुका है।

जिसके कारण एवं सभी बीमारियों की अलग-अलग डॉक्टर होते हैं जो कि एक विशेष बीमारी को सही करने में पूरी तरह से दक्ष होते है। इसी कारण आधे चिकित्सा पद्धति में इतना विस्तार हो पाया है साथ ही बीमारी से बनने वाले रोगियों में भी कमी आई है।

बीमारियों पर काबू पाने का पूरा श्रेय डॉक्टरों को ही दिया जाता है क्योंकि वही है जो कि दिन रात लैब में बैठकर नई-नई दवाइयाँ बनाते है।

लेकिन जैसे-जैसे समय बदल रहा है कुछ डॉक्टरों के स्वभाव में भी बदलाव आ रहा है वे दिन प्रतिदिन लालची होते जा रहे हैं और अपना स्वार्थ सिद्ध करने के लिए रोगियों को महंगी महंगी दवाइयां देते है। जिसके कारण काफी रोगी इलाज नहीं करा पाते है और उन्हें मृत्यु का सामना करना पड़ता है।

आज डॉक्टर के पेशे को पैसे कमाने का धंधा बना दिया गया है जिसके कारण अमीरों को तो कुछ फर्क नहीं पड़ा लेकिन गरीब लोगों की हालत खराब हो गई है।

एक छोटी सी बीमारी होने पर भी गरीब आदमी की पूरे महीने भर की कमाई उस बीमारी को सही कराने में चली जाती है। लेकिन सभी डॉक्टर ऐसे नहीं होते हैं आज भी दुनिया में कई ऐसे डॉक्टर है जो कि बिना किसी शुल्क के रोगियों को देखते है और उन्हीं दवाइयाँ प्रदान करते है।

सही मायनों में डॉक्टर का यही कर्तव्य होता है कि वह अपने पास आए रोगी को कम से कम रुपए में स्वस्थ करने में पूरी सहायता करें। ऐसे डॉक्टर ही प्रशंसा के पात्र होते है इन्हीं के कारण आज भी लोग डॉक्टरों पर अपने से ज्यादा विश्वास करते है।

और हमें यह भी मानना पड़ेगा कि डॉक्टर के कारण ही आज हम इतनी बीमारी से घिरे होने के बावजूद स्वस्थ है। इसीलिए समाज में डॉक्टर होना एक गर्व की बात होती है।

यह भी पढ़ें –


Essay on Mere Jeevan ka Lakshya Doctor in Hindi – मेरे जीवन का लक्ष्य डॉक्टर बनना

क्रिसमस पर निबंध – Essay on Christmas in Hindi

शीत ऋतु पर निबंध – Essay on Winter Season in Hindi

Essay on Mere Jeevan ka Lakshya Teacher in Hindi – मेरे जीवन का लक्ष्य शिक्षक बनना

Anopcharik Patra in Hindi – अनौपचारिक पत्र लेखन

हम आशा करते है कि हमारे द्वारा Essay on Doctor in Hindi पर लिखा गया निबंध आपको पसंद आया होगा। अगर यह लेख आपको पसंद आया है तो अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ शेयर करना ना भूले।

इसके बारे में अगर आपका कोई सवाल या सुझाव हो तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं।



अपना सुझाव और कमेन्ट यहाँ लिखे

You have to agree to the comment policy.