धनतेरस 2022 शुभ मुहूर्त, महत्व और पूजा विधि – Dhanteras kab Hai

Dhanteras kab Hai 2022: धनतेरस का त्यौहार बड़ी ही धूमधाम से दीपावली के दो दिन पहले कार्तिक मास की त्रयोदशी तिथि को मनाया जाता है। इस बार धनतेरस 22 और 23 अक्टूबर दो दिन मनाई जाएगी।

Dhanteras kab ki haiधनतेरस कार्तिक मास की त्रयोदशी तिथि 22 अक्टूबर 2022 को शाम 6 बजकर 02 मिनट से शुरू हो रही है। 23 अक्टूबर 2022 को त्रयोदशी तिथि शाम 06 बजकर 03 मिनट पर खत्म होगी।

हिंदू मान्यताओं के अनुसार इस दिन की गई खरीदारी शुभ होती है जो भी इस दिन सोने चांदी आभूषण मकान वाहन इत्यादि की खरीदारी करता है उसके घर में यह सभी वस्तुएं सुख समृद्धि लाती है

शास्त्रों में धनतेरस पर रजत यानी चांदी क्रय करना सौभाग्य कारक बताया गया है। कहते हैं कि इस दिन खरीदे हुए चांदी में तेरह गुने की वृद्धि हो जाती है। 

Dhanteras kab Hai pooja date time
Dhanteras kab Hai pooja date time

Dhanteras 2022 Date & Time

Dhanteras TithiDateTime
कृष्ण त्रयोदशी22 अक्टूबर 2022शाम 6 बजकर 02 मिनट से प्रारंभ 
कृष्ण त्रयोदशी23 अक्टूबर 2022शाम 06 बजकर 03 मिनट तक

इस वर्ष धनतेरस का त्यौहार 2 दिन मनाया जाएगा क्योंकि कार्तिक मास की त्रयोदशी तिथि 22 अक्टूबर 2022 को शाम 6 बजकर 02 मिनट से शुरू हो रही है देवताओं के प्रधान चिकित्सक भगवान धनवंतरि के जन्मोत्सव के रूप में यह पर्व मनाया जाता है। 

धनवंतरी धन के देवता है इसलिए इस दिन की गई खरीदारी घर में सुख समृद्धि लेकर आती है इसीलिए  मान्यता है कि इस दिन सोने, चांदी के आभूषण और धातु के बर्तन खरीदने से घर में सुख समृद्धि आती है और मां लक्ष्मी प्रसन्न होती है.

Dhanteras Kharidari ka Shubh Muhurat 2022 – धनतेरस का चौघड़िया और खरीदारी का मुहूर्त

दिनांक चौघड़ियाशुभ मुहूर्तक्या खरीदे 
22 अक्टूबर 2022शुभ चौघड़ियासुबह 7 बजकर 30 मिनट से 9 बजे तकसोना, पीतल, जमीन-मकान
22 अक्टूबर 2022चर चौघड़ियादोपहर 12 बजे से 1 बजकर 30 मिनट तकवाहन, हीरा, इलेक्ट्रॉनिक्स आइटम
22 अक्टूबर 2022लाभ चौघड़ियादोपहर 1 बजकर 30 मिनट से 3 बजे तकतांबे का बरतन, सोना, इलेक्ट्रॉनिक्स आइटम
22 अक्टूबर 2022अमृत चौघड़ियाशाम 3 बजे से 4 बजकर 30 मिनट तकचांदी, पीतल, सोना, जमीन-मकान
22 अक्टूबर 2022लाभ चौघड़ियाशाम 6 बजे से 7 बजकर 30 मिनटतांबे का बरतन, सोना, इलेक्ट्रॉनिक्स आइटम, वाहन 
22 अक्टूबर 2022शुभ चौघड़ियाशाम 9 बजे से रात 10 बजकर 30 मिनट तकसोना, पीतल, जमीन-मकान
22 अक्टूबर 2022अमृत चौघड़िया10 बजकर 30 मिनट से रात 12 बजे तकचांदी, पीतल, सोना, जमीन-मकान
23 अक्टूबर 2022चर चौघड़िया12 बजकर 11 मिनट से रात 1  बजकर 46 मिनट तकवाहन, हीरा, इलेक्ट्रॉनिक्स आइटम
23 अक्टूबर 2022लाभ चौघड़िया4 बजकर 56 मिनट से सुबह 6  बजकर 31 मिनट सुबह तकतांबे का बरतन, सोना, इलेक्ट्रॉनिक्स आइटम
dhanteras kharidari ka shubh muhurat 2022
dhanteras kharidari ka shubh muhurat 2022

धनतेरस पर अशुभ चौघड़िया, इस समय न करें खरीदारी

धनतेरस पर 22 अक्टूबर 2022 को काल चौघड़िया सुबह 6 बजे से 7 बजे तक रोग चौघड़िया सुबह 9 बजे से 10 बजकर 30 मिनट। उद्वेग चौघड़िया सुबह 10 बजकर 30 मिनट से 12 बजे तक।

धनतेरस पर 23 अक्टूबर 2022 को रोग चौघड़िया रात्रि 1 बजकर 46 मिनट से सुबह 3 बजकर 21 मिनट और काल चौघड़िया सुबह 3 बजकर 21 मिनट से 4 बजकर 56 मिनट तक।

चौघड़िया मुहूर्त का महत्व-

लाभ चौघड़िया- वैदिक ज्योतिष में, बुध को एक लाभकारी ग्रह माना गया है। इसलिए इसका प्रभाव आमतौर पर शुभ माना जाता है लाभ चौघड़िया को शिक्षा और नया कौशल प्राप्त करने हेतु सबसे शुभ माना जाता है।

अमृत चौघड़िया- चन्द्रमा को एक लाभकारी ग्रह माना गया है। इसलिए इसका प्रभाव आमतौर पर शुभ माना जाता है। अमृत चौघड़िया को सभी प्रकार के कार्यों के लिए अच्छा माना जाता है।

शुभ चौघड़िया – बृहस्पति को एक लाभकारी ग्रह माना गया है। इसलिए इसका प्रभाव आमतौर पर शुभ माना जाता है। शुभ चौघड़िया को विशेष रूप से विवाह समारोह आयोजित करने के लिए लाभकारी माना जाता है।

धनतेरस 2022 अलग-अलग शहरों के पूजा मुहूर्त

इस साल धनतेरस के दिन ग्रह-नक्षत्रों की शुभ स्थिति के कारण त्रिपुष्कर योग का भी निर्माण हो रहा है। जिसे ज्योतिष शास्त्र में अतिलाभकारी माना गया है।

धनतेरस पूजा मुहूर्त 22 अक्टूबर 2022, शनिवार को शाम 7 बजकर 10 मिनट से रात 8 बजकर 24 मिनट तक है।

CityDateTime
नई दिल्ली22 अक्टूबर 202207:01 PM – 08:17 PM
मुंबई22 अक्टूबर 202207:34 PM – 08:40 PM
जयपुर22 अक्टूबर 202207:10 PM – 08:24 PM
बेंगलुरु22 अक्टूबर 202207:24 PM – 08:24 PM
चंडीगढ़22 अक्टूबर 202206:59 PM – 08:18 PM
अहमदाबाद22 अक्टूबर 202207:29 PM – 08:39 PM
चेन्नई22 अक्टूबर 202207.13 PM – 08.13 PM

धनतेरस पर क्या खरीदें –

श्रीगणेश और लक्ष्मी की चांदी या मिट्टी की मूर्तियां। मूर्ति की जगह चांदी का सिक्का भी खरीद सकते हैं जिस पर गणेश-लक्ष्मी चित्रित हों। इस दिन भूमि, वाहन, इलेक्ट्रॉनिक सामान, बर्तन, आभूषण इत्यादि खरीद सकते है और इस दिन किसी भी शुभ कार्य की शुरुआत भी करते हैं तो वह कार्य सफल हो जाता है।

यह भी पढ़ें –

दिवाली पर शायरी – Diwali Shayari in Hindi

धनतेरस की शुभकामनाएं – Happy Dhanteras Wishes in Hindi

30+ भाई दूज स्टेटस – Bhai Dooj Status in Hindi

दिवाली पर निबंध – Essay on Diwali in Hindi

श्री लक्ष्मी जी की आरती । Laxmi Ji Ki Aarti

हम आशा करते है कि हमारे द्वारा Dhanteras kab Hai आपको पसंद आये होगे। अगर यह नारे आपको पसंद आया है तो अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ शेयर करना ना भूले। इसके बारे में अगर आपका कोई सवाल या सुझाव हो तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं।

अपना सुझाव और कमेन्ट यहाँ लिखे