पिता पर निबंध – My Father Essay in Hindi

My Father Essay in Hindi : दोस्तों आज हमने मेरे पिता पर निबंध लिखा है इस निबंध में मैंने अपने पिताजी के बारे में बताया है. अक्सर विद्यार्थियों से परीक्षाओं में पिताजी पर लिखने को निबंध दिया जाता है उनकी सहायता करने के लिए हमने अलग-अलग शब्द सीमा में पिता पर निबंध लिखा है.

यह निबंध कक्षा 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9,10,11 और 12 के विद्यार्थियों की सहायता के लिए लिखा गया है.

my father essay in hindi

Get Some Essay on My Father in Hindi under 100, 250, 350 and 1000 words

10 lines on My Father Essay in Hindi


(1) मेरे पिता का नाम विकास सैनी है, वह दुनिया के सबसे अच्छे पिता हैं

(2) मेरे पिता एक किसान है.

(3) मेरे पिताजी हमेशा सत्य बोलते है और इमानदारी से कार्य करते है.

(4) वह सभी का सम्मान और सहायता करते है.

(5) वह मेरी सभी इच्छाएं पूरी करते है मुझे चॉकलेट और खिलौने लाकर देते है.

(6) वह हम सभी को खूब प्यार करते है और हम सब भी उन्हें खूब प्यार करते है.

(7) वह हमारे परिवार की सभी जरूरतों को पूरा करते है.

(8) मेरे पिताजी अनुशासन प्रिय व्यक्ति है इसीलिए वे हर कार्य समय से करते है.

(9) शाम को घर आने के बाद वह मेरी पढ़ाई करने में मदद करते है.

(10) मेरे पिताजी हर महीने हमें पिकनिक पर लेकर जाते है.

Few lines on My Father Essay in Hindi


मेरे पिताजी इस दुनिया के सबसे अच्छे पिता है वे मेरी सभी खुशियों का खयाल रखते है. उनके लिए मैं ही उनकी पूरी दुनिया हूं. बचपन से ही उन्होंने मुझे खूब प्यार और दुलार किया है. मेरे पिताजी अनुशासन के लिए बहुत सख्त है.

वह हमेशा वक्त पर अपने कार्यालय पहुंच जाते है और पूरी ईमानदारी से अपना कार्य करते है. उन्होंने मुझे भी अनुशासन में रहना सिखाया है इसीलिए मैं आज इतना अच्छा विद्यार्थी बन पाया हूं. मेरे पिताजी हर माह हमें पिकनिक पर लेकर जाते है.

मेरे पिताजी मेरे दादा-दादी की सेवा करते है और पूरे परिवार को एक साथ प्यार के बंधन में जोड़ कर रखते है. इसीलिए वे दुनिया के सबसे अच्छे पिताजी है.

My Father Essay in Hindi 250 Words


मेरे पिता बहुत ही अच्छे स्वभाव के व्यक्ति है. समाज का प्रत्येक व्यक्ति उनका आदर करता है. मेरे पिताजी बहुत ही अनुशासन प्रिय व्यक्ति है वे सुबह 5:00 बजे उठ जाते है और अपनी नित्य क्रिया से निवृत होने के बाद वे योगासन करते है और फिर बगीचे में दौड़ लगाने चले जाते है.

मेरे पिताजी ने मुझे भी अनुशासन में रहना और बड़े बुजुर्गों का आदर करना सिखाया है वह मेरे साथ हर असफलता और सफलता में साथ खड़े होते हैं जब भी मैं घबराता हूं तो वे मुझे साहसी लोगों की कहानियां सुनाकर मुझ में जोश भर देते है और मेरा हौसला बढ़ाते है.

आज इसीलिए मैं मेरी कक्षा का सबसे होनहार छात्र हूं. मेरे पिताजी बहुत ही दयालु स्वभाव के है वह हमेशा दूसरों की सहायता करते है. पिताजी घर खर्च चलाने के लिए नौकरी करते है और मेरी माता जी घर का कार्य करती है.

मेरे पिताजी बहुत ही अच्छे व्यक्ति है वह कभी भी है मैं ऑफिस की बातें बताकर चिंता में नहीं डालते और हमें रोज बगीचे में घुमाने लेकर जाते है वह हमारे परिवार के सभी जरूरतों हंसते-हंसते पूर्ण करते है.

मेरे पिताजी कभी भी गुस्से में बात नहीं करते अगर मुझसे कोई गलती हो जाती है तो मुझे प्यार पूर्वक समझाते है और कभी कभी अगर माताजी की तबीयत खराब होती है तो वे घर के कार्य में भी उनका हाथ बटाते है.

वे अपने माता-पिता को भी समय देते है, उनका हालचाल पूछते है और उनकी हर एक इच्छा को पूरा करते है सच में भी एक अच्छे इंसान के साथ-साथ एक अच्छे पिता और एक अच्छे पुत्र भी है.

Paragraph on My Father in Hindi 350 Words


मेरे पिताजी एक शांति प्रिय और अच्छे व्यक्तित्व वाले इंसान है. मेरे पिताजी वकील है जो कि लोगों को न्याय दिलाने का काम करते है यह बहुत ही अच्छा कार्य है. वह हमेशा समय पर ऑफिस जाते है और अपना कार्य पूरी कर्मठता और सत्यनिष्ठता से करते है.

वह दिन पूरे विश्वास से और हर्षोल्लास से अपना जीवन व्यतीत करते है. उन्हें समय का महत्व अच्छे से पता है इसलिए मैं कभी भी गैर जरूरी कार्य में अपना समय नष्ट नहीं करते है. उन्हें देखकर मुझ में भी कई बदलाव आए हैं मैं भी समय से अपने सभी कार्य करता हूं.

जब कभी मैं निराश होता हूं या परीक्षा में अच्छे अंक नहीं ला पाता तो मेरे पिताजी ही मेरा हौसला बढ़ाते है मेरा आत्मविश्वास बढ़ाने के लिए वे मुझे महापुरुषों की जीवनी बताते है साथ ही अपने जीवन में घटित हुई घटनाओं के बारे में भी बताते है जिससे मेरा आत्मविश्वास बढ़ता है.

वे हमेशा से ही दयालु स्वभाव के रहे है इसीलिए वे गरीबों और हमारे पास रहने वाले पड़ोसियों की मदद करते है. मेरे पिताजी हमेशा सत्य बोलते है और मुझे भी सत्य बोलने के लिए प्रेरित करते है क्योंकि सत्य बोलने से हमें किसी बात का डर नहीं रहता है.

जब कभी मैं कोई गलती करता हूं तो वह गुस्सा होने की बजाय मुझे शांतिपूर्ण तरीके से समझाते है. मेरे पिताजी अपने माता पिता की हर आज्ञा का पालन करते है वे सुबह शाम उनकी सेवा करते है और ऑफिस जाने के बाद उनके पास बैठकर पूरे दिन भर की चर्चा करते है जिससे मेरे दादा दादी बहुत खुश रहते है.

मेरे पिताजी हम सब लोगों से बहुत प्यार करते है इसीलिए भी हमेशा हमारी छोटी सी छोटी जरूरतों का ख्याल रखते है. वे हमें महीने के अंत में पिकनिक पर लेकर जाते हैं उस दिन हम खूब मौज मस्ती करते है इससे जीवन में अपनापन बढ़ता है और परिवार के सभी सदस्य एक दूसरे को समझ पाते है.

मेरे पिताजी अपना कार्य करने के साथ-साथ सभी लोगों के साथ समय व्यतीत करते है जिसके कारण पूरा परिवार एकजुट रहता है और खुशी का माहौल बना रहता है.

My Father Essay in Hindi


रूपरेखा –

एक पिता के जितना जीवन में संघर्ष कोई अन्य व्यक्ति नहीं कर सकता है संघर्ष करके जीवन में सफल होना एक पिता से ही सीखा जा सकता है. पिता ही होता है जो अपनी सभी मुश्किलों को भूलकर परिवार में खुशियां बांटता है. पिता ही पूरे जीवन भर कष्टों का सामना करके पूरे परिवार का पालन पोषण करते है.

एक पिता ही पारिवारिक जिम्मेदारियों के साथ-साथ अपनी नैतिक जिम्मेदारी भी निभाता है. एक पिता अपने आप को बाहर से कठोर दिखाता है लेकिन उसके जितना दयालु और अच्छा कोई और नहीं हो सकता. वह हमेशा अपनी खुशियों को नजरअंदाज करके परिवार की खुशी के बारे में सोचता है.

वह अपने लिए बहुत कम वस्तुएं खरीदता है लेकिन अपने बच्चों और परिवार के लिए किसी वस्तु की कमी नहीं होने देता है. एक पिता ही होता है जो एक बेटे, एक भाई और एक अच्छे जीवनसाथी के रूप में सदा अपने कर्तव्यों का पालन करता है.

जीवन में पिता का महत्व –

मेरे पिताजी दुनिया के सबसे अच्छे इंसान है वे एक बहुत मेहनती किसान है. पहले हमारा परिवार बहुत गरीब हुआ करता था लेकिन मेरे पिताजी ने सुबह शाम खूब मेहनत करके परिवार का आर्थिक स्तर बढ़ाया है इसी कारण में आज अच्छे स्कूल में अच्छी शिक्षा प्राप्त कर पा रहा हूं.

मेरे पिताजी परिवार की आर्थिक स्थिति के कारण ज्यादा पढ़ लिख नहीं पाए लेकिन वह हमेशा चाहते है कि मैं पढ़ लिख कर एक अच्छा व्यक्ति बनू. मैंने सफलता का मंत्र मेरे पिताजी से ही सीखा है उन्होंने मुझे सिखाया है कि हमेशा कार्य करते रहो फल की चिंता मत करो.

इसीलिए मैं हर रोज मन लगाकर पढ़ाई करता हूं जिसके कारण मुझे कक्षा में प्रथम स्थान प्राप्त हुआ. उन्होंने मुझे हमेशा सत्य बोलना और दूसरों की मदद करना करना सिखाया है. उन्हीं के इन गुणों के कारण मैं हमेशा सत्य बोलता हूं और अपने सहपाठियों की मदद करता हूं.

मेरे पिताजी ने मुझे धन का सही उपयोग करना सिखाया है क्योंकि मैं पहले व्यर्थ में पैसे बर्बाद कर देता था लेकिन पिताजी की समझाने के बाद में हमेशा धन का सदुपयोग करता हूं. मेरे पिताजी बहुत ही कठिन परिश्रम करके परिवार का पालन पोषण करते है लेकिन वह कभी हमें किसी भी वस्तु की कमी नहीं होने देते है.

मेरे पिताजी जब शाम को खेत से लौटकर घर आते है तो बहुत थक जाते है लेकिन हमारी खुशी के लिए वे हमारे साथ समय व्यतीत करते है हमें अच्छी शिक्षाप्रद कहानियां सुनाते है और साथ ही हमारी पढ़ने में भी मदद करते है.

वे हमेशा परिवार के साथ खुशियां बांटते है कभी भी अपनी परेशानी हमें नहीं बताते उनके इस त्याग को देख कर मुझे भी आगे बढ़ने का हौसला मिलता है. उन्होंने हमें हमेशा आगे बढ़ना सिखाया है कभी भी मुश्किलों से घबराकर अपने लक्ष्य को छोड़ना नहीं बल्कि उनसे संघर्ष करके सफलता को प्राप्त करना बताए है.

वे एक किसान है इसलिए उनसे ज्यादा संघर्ष कोई नहीं कर सकता इसलिए मैं उन्हें अपना आदर्श मानता हूं. हमारा परिवार बहुत बड़ा है इसलिए मेरे पिताजी जब भी अपने भाई बहनों और अन्य रिश्तेदारों से मिलने जाते है तो उनके लिए उपहार और मिठाइयां लेकर जाते है वह हमेशा खुशियां बांटने में विश्वास रखते है.

मेरे पिताजी अपने पारिवारिक जिम्मेदारियों को अच्छी तरह से समझते हैं इसीलिए वे आलस्य नहीं करते और हर रोज कार्य करने जाते है मैं बीमार भी होते हैं तो भी अपने कर्तव्य को कभी नहीं भूलते. मुझे लगता है कि एक पिता जितना त्याग और प्यार कोई अन्य व्यक्ति नहीं कर सकता है.

मेरे पिताजी पारिवारिक कर्तव्यों के साथ साथ सामाजिक कर्तव्यों को भी पूरी कर्तव्यनिष्ठा से निभाते है हमारे पूरे समाज में उन्हें सभी आदर के साथ बुलाते है. वे भी उनको उतना ही आदर सम्मान देते है.

उन्होंने मुझे भी हमेशा दूसरों को सम्मान देना सिखाया है क्योंकि उन्होंने बताया है कि हम जैसा करते है वैसा ही हमारे साथ अन्य लोग करते है इसलिए सदैव दूसरों की सहायता करनी चाहिए और उनका सम्मान करना चाहिए.

मुझे पिताजी की यह सभी बातें बहुत अच्छी लगती है इसलिए मैं भी अपने जीवन में इन बातों पर अमल करता हूं जिसके कारण स्कूल के सभी अध्यापक और मेरे साथी गण मुझे बहुत पसंद करते है.

मेरे पिताजी बहुत ही धैर्यवान है मैं जब भी किसी कार्य को करते हैं तब बहुत ही समझदारी और धैर्य से करते हैं इसीलिए वे हमेशा अच्छी फसल का उत्पादन करते है और अपने कार्य में सफल होते है. उनके प्रतिदिन कार्य करने की क्षमता को देखकर मुझे भी एक अलग सा साहस और हौसला मिलता है.

मेरे पिताजी एक अच्छे पिता के साथ साथ एक अच्छे पुत्र भी है वे जितने अच्छे से हमारा ख्याल रखते हैं उतने ही अच्छे से अपने माता पिता का भी ध्यान रखते है. वे सुबह उठते ही अपने माता पिता का आशीर्वाद लेते है और फिर कार्य प्रारंभ करते है.

मेरे पिताजी एक अच्छे जीवन साथी भी है वह मेरी मां का सभी कार्यों में सहयोग करते है जब कभी मेरी मां की तबीयत खराब होती है तो वे उन्हें आराम करने के लिए कहते है आप खुद घर का कार्य करते है.

इसीलिए वे दुनिया के सबसे अच्छे पिता है मैं भी उन्हीं के सिखाएं रास्तों पर चलता हूं इसी कारण मुझे आज तक असफलता का मुंह नहीं देखना पड़ा.

उपसंहार –

माता – पिता एक बूढ़े वट वृक्ष के समान होते है जिन्होंने जीवन की हर खुशी और हर एक गम को देखा है उन्होंने हर एक पल को जिया है उन्हें हर एक अच्छे बुरे व्यक्ति को समझने की काबिलियत है. पिता का हाथ जब तक हमारे मस्तक पर रहता है तब तक हमें किसी भी बात की चिंता करने की आवश्यकता नहीं होती है.

वे हमेशा दुखों को खुद सहते है और हमें सिर्फ खुशियां देते है इसीलिए हम जीवन में इतनी खुशियां को जी पाते है. हमें हमारे पिता के संघर्षों को कभी भी नहीं भूलना चाहिए. हमें बड़े होने के बाद उनकी सेवा करनी चाहिए और एक अच्छे व्यक्ति के साथ साथ एक अच्छा पुत्र भी बन कर दिखाना चाहिए.

हमें अपने मां बाप को कभी नहीं भूलना चाहिए क्योंकि उन्ही के कारण आज हमने जितनी सफलताएं प्राप्त ही है वे सब उनके संघर्ष और विचारों का फल है.


यह भी पढ़ें –

माँ पर निबंध – Essay on Mother in Hindi

माँ पर 10 हिन्दी कविता | Sad Poem on Maa in Hindi

Mera Ghar Essay in Hindi – मेरा घर पर निबंध

हम आशा करते है कि हमारे द्वारा My Father Essay in Hindi आपको पसंद आया होगा। अगर यह लेख आपको पसंद आया है तो अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ शेयर करना ना भूले। इसके बारे में अगर आपका कोई सवाल या सुझाव हो तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं।



अपना सुझाव और कमेन्ट यहाँ लिखे

You have to agree to the comment policy.